CM गृहमंत्री के लिये आतंकवादी के नारे, नरोत्तम मिश्रा का भावुक बयान- जनहित सबसे प्रमुख

इसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 150 से 200 लोगों पर मामला दर्ज किया है।वही गृहमंत्री ने भी लॉ एंंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए किसी भी सीमा तक जानें की बात कहीं है।

narottam mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश के खरगोन में हुई हिंसा के मामले में नया मोड आ गया है। शुक्रवार 15 अप्रैल को नीमच में जुमे की नमाज के बाद खरगोन में हुई हिंसा पर पुलिस की कार्रवाई को पक्षपाती बताते हुए समुदाय विशेष की भीड़ ने सवाल उठाए । वही पुलिस, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ मुर्दाबाद के ना सिर्फ नारे लगाए बल्कि आतंकवादी और गोली मारने तक की बात कहीं है ।इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इसके बाद पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए 150 से 200 लोगों पर मामला दर्ज किया है।वही गृहमंत्री ने भी लॉ एंंड ऑर्डर को बनाए रखने के लिए किसी भी सीमा तक जानें की बात कहीं है।

यह भी पढ़े.. MP College: अतिथि विद्वानों को बड़ी राहत, उच्च शिक्षा विभाग ने दिए ये निर्देश, नहीं लगेगी ड्यूटी

दरअसल, बीते दिनों खरगोन में हुई हिंसा को लेकर शुक्रवार को जिला एमआईसी कमेटी के सदस्य बड़ी संख्या में एसपी कार्यालय ज्ञापन देने पहुंचे थे, इस दौरान उन्होंने शासन के खिलाफ अशोभनीय नारेबाजी की। वही कलेक्टर के आदेश (धारा 144) भी अवहेलना की, जिसके बाद केन्ट पुलिस ने गुलाम रसुल, सलीम उर्फ गुडलक, यासीन, जावेद, सईद, वसीम, छोटू, राजा, पूर्व पार्षद इकबाल हुसैन, असलम कोरियर, आसिफ मंसूरी सहित अन्य 150 से 200 के खिलाफ धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर प्रतिबंधात्मक कार्यवाही की।

नीमच एसपी सूरज वर्मा ने बताया की यह लोग ज्ञापन देने के लिए इकट्ठे हुए थे और ज्ञापन देने से पहले उन्होंने नारेबाजी की थी जिसमें आपत्तिजनक और भड़काऊ टाइप के नारेबाजी की थी जिसे संज्ञान में लेकर प्रकरण दर्ज किया गया है। इनमें 11 लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है बाकी अज्ञात लोगों को भी आरोपी बनाया गया है, वही इन लोगों से बॉन्ड भरवाने की कार्रवाई की गई है ताकि यह लोग इस प्रकार का कोई काम ना करें।नीमच के एसपी सूरज वर्मा ने मीडिया को जानकारी दी है कि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर नजर रखी जा रही है।

यह भी पढ़े.. Mandi bhav: 18 अप्रैल 2022 के Today’s Mandi Bhav के लिए पढ़े सबसे विश्वसनीय खबर

इस पूरे मामले पर नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि खरगोन में हिंसा के बाद दंगाइयों के खिलाफ विधि सम्मत तरीके से कार्रवाई की गई है। जो भी न्यायालय जाना चाहता है, जा सकता है।खरगोन में पूरी तरह शान्ति बनी हुई है और हालात अब सामान्य हैं।स्थानीय प्रशासन अपने स्तर पर स्थिति की समीक्षा कर कर्फ्यू में ढील दे रहा है।वही गोली मारने वाली बात पर कहा कि प्रदेश की शांति और अमन के लिए किसी भी सीमा तक जाने के लिए तैयार हूं। मेरे लिए प्रदेश सबसे प्रमुख है।

 

 

 

 

CM गृहमंत्री के लिये आतंकवादी के नारे, नरोत्तम मिश्रा का भावुक बयान- जनहित सबसे प्रमुख