नरोत्तम मिश्रा का तंज ‘कमलनाथ जी बनी बनाई सरकार चला नहीं पाए, अब स्वयंभू भावी मुख्यमंत्री घोषित’

Narottam Mishra on Kamal Nath :  प्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कांग्रेस के ‘नया साल नई सरकार’ के नारे पर तंज़ कसा है। उन्होंने कहा कि कमलनाथ जी बनी बनाई सरकार तो चला नहीं पाए, वे नई सरकार क्या बनाएंगे। वैसे भी उनके ही विधायक लक्ष्मण सिंह कांग्रेस की जमीनी हकीकत बता चुके है। सरकार बनाने का ख्वाब, ख्वाब ही रह जाने वाला है।

‘दिग्विजय सिंह से ले लेना चाहिए राय’

नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाने का दावा कर रही है। सपने देखने मे कोई पाबंदी नहीं है लेकिन जो कमलनाथ जी बनी बनाई सरकार नही चला पाए वह नई सरकार बनाने का दावा भी कैसे कर रहे है, ये आश्चर्य की बात है। उन्होंने कहा कि उनके ही वरिष्ठ नेता व  विधायक लक्ष्मण सिंह जी बता चुके हैं कि कांग्रेस कि कुल 54 सीटें ही आ रही हैं। मेरा व्यक्तिगत मत है कि  54 भी नही आएंगी। उसके बाद भी कमलनाथ जी दावा कर रहे हैं कि प्रदेश में  कांग्रेस की सरकार बनेगी। कम से कम दावा करने से पहले  कमलनाथ जी एक बार दिग्विजय सिंह से तो राय ले लेते। वो ही सच का आईना दिखा देते।

भावी सीएम घोषित करने पर कटाक्ष

गृह मंत्री ने कहा कि  कांग्रेस के हालात क्या है यह इससे ही समाझ में आता है कि कमलनाथ खुद अपने को सीएम उम्मीदवार घोषित कर रहे हैं। राहुल गांधी को पीएम उम्मीदवार बता रहे हैं। किसी से पूछने या राय लेने तक की जहमत कमलनाथ नहीं उठा  रहे हैं। कांग्रेस में कितना लोकतंत्र  है, यह इससे ही पता चल रहा है। उन्होने कहा कि ‘कमलनाथ खुद गल्ले पर बैठे हैं इसलिए उन्हें कार्यकर्ताओं से गल करने की कोई जरूरत ही नहीं है। उन्होंने अपने आपको एकतरफा मुख्यमंत्री घोषित कर दिया है। कांग्रेस के लोकतंत्र की इससे ज्यादा बदहाली क्या होगी कि अभी हाथ जोड़ो अभियान प्रारंभ करने की बात आ रही थी और कमलनाथ जी ने बता दिया कि उनका हाथ ही  जगन्नाथ है। वो जो  चाहेंगे वही होगा।’