नरोत्तम मिश्रा का आरोप- ‘कोरोना को लेकर कमलनाथ और कांग्रेस फैला रहे भ्रम’

नरोत्तम मिश्रा
Dr.Narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। प्रदेश सरकार कोरोना (Corona) की तीसरी लहर की आशंका को लेकर पूरी तरह से सजग है और युध्द स्तर पर तैयारियां कर ली गई है। इसे लेकर आशंकित और भयभीत होने की आवश्यकता नहीं है। ये कहा है गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने। उन्होने कहा कि सरकार को कोशिशों और जनता के सहयोग से कोरोना नियंत्रित हो रहा है। निसंदेह इस नियंत्रण में जनता का अभूतपूर्व सहयोग मिला है आगे भी अपेक्षा है कि इसी प्रकार से सावधानी रखना जारी रखेंगे।

अधिकारी कर्मचारियों के लिए मुसीबत ना बन जाए Unlock!

गृहमंत्री ने जनता से अनुरोध किया कि अनलॉक के बाद भी कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करते रहें ताकि भविष्य में सख्त प्रतिबंध लगाने की आवश्यकता ना पड़े। उन्होने कहा कि जनता से विनम्र अनुरोध है कि वो स्वयं रोको टोको अभियान चलाए, पुलिस और प्रशासन को यह करने की जरूरत नहीं पड़े। जनता स्वयं एक दूसरे को मास्क लगाने के लिए टोकेगी और प्रेरित करेगी तो निसंदेह उसका बेहतर परिणाम प्राप्त होंगे। प्रदेश के 31 जिलों में 10 से भी कम मरीज मिले हैं। विगत 24 घंटे में मात्र 1205 नए पॉजिटिव केस आए हैं जबकि स्वस्थ होकर घर जाने वालों की संख्या 5023 है।

वहीं उन्होने कांग्रेस और कमलनाथ को घेरते हुए कहा कि कोरोना के संबंध में विश्व स्तरीय रिपोर्ट आने के बाद स्पष्ट हो गया कि कोरोना को इंडियन वैरिएंट बता कर भ्रम फैलाने के लिए कांग्रेस और शीर्ष नेतृत्व दोषी है। अब मंदिर-मंदिर खेलने वालों को अब सद्बुद्धि आ जानी चाहिए। हनी ट्रैप मामले में कमलनाथ के बयान पर पलटवार करते हुए नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि सनसनी फैलाने और छपने के लिए पहले बयान देते हैं फिर पलट जाते हैं।कमलनाथ जी संवैधानिक पद पर है, उन्हें एसआईटी की मदद करना चाहिए और पेनड्राइव जमा करानी चाहिए।