प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने अब किसे कहा “देशद्रोही”

प्रज्ञा ठाकुर

भोपाल।

हमेशा अपने बयानों से सुर्खियों में रहने वाले साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर(pragya singh thakur) ने एक बार फिर से कुछ ऐसा कह दिया कि वह चर्चा में आ गई है। बीमारी से इलाज के बाद वापस भोपाल लौटी सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह लॉकडाउन(lockdown) के बाद पहली बार लोगों के बीच पहुंची। जहां उन्होंने मोदी 2 कार्यकाल के उपलब्धियों के पत्र लोगों को बांटे। इसी बीच मीडिया(media) के सवाल पर उन्होंने जवाब देते हुए साफ कहा कि इस संकटकाल में जो भी प्रधानमंत्री मोदी(PM MODI) पर सवाल खड़े करेगा वह देशद्रोही ही होगा।

दरअसल दिल्ली(delhi) से अपना इलाज(treatment) करवा कर वापस भोपाल लौटी सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने आत्मनिर्भर भारत अभियान के तहत लोगों को मोदी 2(modi2) के एक साल के कार्यकाल की उपलब्धियों की लिस्ट सौंपी। वहीं उन्होंने लोगों से चाइना(china) के सामान को उपयोग न करने की अपील की। साध्वी प्रज्ञा सिंह ने कहा कि जो भी देशभक्त हैं, वह चाइना के सामान का उपयोग ना करें। वहीं भारत-चीन के बीच चल रहे विवाद के बारे में पूछने पर सांसद ठाकुर ने कहा कि पूरा देश कंधे से कंधा मिलाकर लड़ने को तैयार है। यह भारत 1962 का नहीं बल्कि नरेंद्र मोदी के नेतृत्व करने वाला भारत है। जिसमें चाइना को 1 इंच भी जमीन नहीं दी जाएगी। प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने कांग्रेस और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस की मानसिकता रखने वाले लोग देशद्रोही हैं। ऐसे लोगों को देश हित में पहले सोचना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि तनाव के वक्त में प्रधानमंत्री मोदी पर सवाल खड़े करने वाले लोग देशद्रोही ही होंगे।

भोपाल सांसद प्रज्ञा ठाकुर ने कोरोना काल के दौरान अपने गायब होने पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने विहिप जारी किया था जिसके तहत वो दिल्ली में थीं। उसके अलावा जब वो भोपाल आना चाहती थीं तब फ्लाइट बंद कर दी। और आने के साधन बन्द थे। जिसके कारण वो भोपाल नहीं आ पाई लेकिन अपने हेल्प लाइन के माध्यम से वो सभी जरुरत मंदों की मदद करती रही हैं। फिर भी कांग्रेस ने उनके लिए राजनीति की जो गलत है। ज्ञात है कि कोरोना संक्रमण के बीच लगातार कांग्रेस प्रज्ञा ठाकुर के गायब होने पर सवाल उठाती रही है।

बता दें कि भोपाल सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर अपनी बीमारी के इलाज के लिए दिल्ली एम्स(AIIMS) में भर्ती थी। प्रज्ञा ठाकुर की तबीयत खराब होने के कारण आंखों के इलाज के लिए उन्हें दिल्ली एम्स भर्ती कराया गया था। जिसके बाद भोपाल लौटने के बाद पहले कार्यक्रम में हिस्सा लेते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के दूसरे कार्यकाल के 1 वर्ष पूर्ण होने पर केंद्र सरकार की उपलब्धियों की जानकारी लोगों तक पहुंचाई।