अब कमलनाथ के ‘हाथ’ पर राजनीति शुरू

Now-politics-begins-on-Kamal-Nath's-hand-

भोपाल।

मुख्यमंत्री कमलनाथ वीआईपी कल्चर छोड़ राजधानी भोपाल के हमीदिया में इलाज कराने पहुंचे है। यहां आज उनकी उंगुली की सर्जरी होना है।लेकिन इससे पहले उनके सरकारी अस्पताल में यूं जाकर इलाज करवाने पर राजनीति शुरु हो गई है।  पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर  कटाक्ष किया है । शिवराज ने कहा है कि जिस तरह की सुविधाएं सीएम को मिलेगी उस तरह की अन्य मरीजों को भी मिलनी चाहिए, ताकी उन्हें इलाज के लिए इधर उधर ना भटकना पड़े।वही शिवराज के कटाक्ष का अभी तक सरकार की तरफ से कोई पलटवार नही किया गया है। साथ ही किसी नेता की भी प्रतिक्रिया सामने नही आई है।

दरअसल, शुक्रवार शाम को मुख्यमंत्री कमलनाथ हमीदिया अस्पताल पहुंचे थे। उन्हें हाथ में तकलीफ होने के कारण यहां इलाज के लिए भर्ती होने की सलाह दी गई थी।  सभी चेकअप करने के बाद डॉक्टर ने उन्हें हाथ में सर्जरी के लिए कहा था और इसके लिए ऑपरेशन आज शनिवार होना है।सीएम सुबह से सर्जरी के लिए अस्पताल पहुंच गए है। इसी बीच उनके यूं सरकारी अस्पताल में जाकर इलाज कराने विपक्ष ने राजनीति शुरु कर दी है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अपनी ट्वीटर के माध्यम से कमलनाथ पर कटाक्ष किया है और लिखा है कि ”मुख्यमंत्री जी, हमीदिया में अपना इलाज कराने का आपका फैसला प्रशंसनीय और स्वागतयोग्य है। साथ ही मैं यह चाहता हूं कि जो सुविधा आपको वहां मिले, वही आमजन को भी मिले। उन्हें इधर-उधर भटकना न पड़े। ” साथ ही शिवराज ने उन्हें बेहतर स्वास्थ्य के लिए अपनी शुभकामनाएं दी और लिखा है कमलनाथ जी सदैव स्वस्थ रहें, मेरी शुभकामनाएं!

अस्पताल पहुंचे कमलनाथ, थोड़ी देर में होगी सर्जरी

वही मुख्यमंत्री कमलनाथ के स्वास्थ्य की जानकारी देते हुए मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने बताया कि  मुख्यमंत्री कमलनाथ आज शनिवार सुबह 8.45 पर भोपाल के हमीदिया शासकीय अस्पताल में भर्ती हुए। 10 बजे के क़रीब उनके दाहिने हाथ की ऊँगली का ऑपरेशन होगा। मुख्यमंत्री  ने जनता व कार्यकर्ताओं से अपील की है कि वे अस्पताल उनसे मिलने ना आये। अस्पताल में इलाज कराने आने वाले मरीज़ों को इससे असुविधा होगी।प्रदेश की 7.5 करोड़ जनता की शुभकामना व दुआ उनके साथ है।

सर्जरी से पहले कमलनाथ ने की ये अपील

सर्जरी से पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने जनता से अपील की है कि वे सामान्य मरीज की तरह ही अस्पताल में भर्ती होकर इलाज करा रहे हैं, इसलिए कोई भी उनसे अस्पताल मिलने न आए, ताकि अस्पताल में इलाज करा रहे अन्य मरीजों को कोई असुविधा न हो। कमलनाथ ने हमीदिया अस्पताल की व्यवस्था की तारीफ की। उन्होंने कहा हमीदिया बहुत अच्छा अस्पताल है। मैं देश के किसी भी अस्पताल में जा सकता था, लेकिन मैंने सरकारी हमीदिया अस्पताल को प्राथमिकता दी।