तबादले की खबर से PHQ में हड़कंप, इन शाखाओं में बड़ा फेरबदल संभव

5918
officers-are-in-tension-due-to-transfer-news-

भोपाल। पुलिस मुख्यालय में अधिकारियों के चेहरे का रंग आज कल उड़ा उड़ा है। सीएम कमलनाथ के तबादले वाले बयान के बाद से अफसरों में हड़कंप मचा है। लंबे समय से एक ही विभाग में जमे अधिकारियों का तबादला तय माना जा रहा है। इसे लेकर अफसर अपनी अपनी कुर्सी बचाने के लिए अलग अलग तरह के प्रयास कर रहे हैं। पीएचक्यू की आठ शाखाओं में लंबे समय से जमे स्पेशल डीजी, एडीजी, आईजी और एआईजी स्तर के अधिकारियों का तबादता तय माना जा रहा है। 

सरकार बदलने के साथ ही सीएम के बयान के बाद से अधिकारी भी राजनीति में सक्रिय हो गए हैं। ट्रांसफर की लिस्ट में बदलाव को लेकर अब अधिकारी राजनेताओं से संपर्क कर रहे हैं। बता दे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आईपीएस अधिकारियों की पहली बैठक में इस बात के संकेत दे दिए थे कि लंबे समय से जमे अफरों का तबादला उनकी क्षमतानुसार किया जाएगा। प्रदेश में अब मनचाही पोस्टिंग की प्रथा भी नहीं चलेगी। 

मंगलवार को मंत्री मंडल का शपथ ग्रहण समारोह है। कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही आईपीएस अफसर जो पुलिस मुख्यालय में लंबे समय से जमे हैं उनका तबादला भी हो जाएगा। इस खबर से अधिकारी अपनी मनमर्जी के मुताबिक विभाग में पोस्टिंग मिलने की जुगत लगा रहे हैं। डीजीपी ऋषि कुमार शुक्ला ने पुलिस मुख्यालय में होने वाले फेरबदल को लेकर सूची भी लगभग तैयार कर ली है। सीएम की हरी झंडी मिलते ही पुलिस अधिकारियों की लिस्ट जारी कर दी जाएगी। खबर है कि एडमिन शाखा की एडीजी (प्रशासन) अनुराधा शंकर का भी तबादला होने संभव है। वह पिछले चार साल से इस विभाग की कमान संभाले हुए हैं। सूत्रों का कहना है कि उनके कार्यकाल के दौरान काम बहुत अच्छा रहा है। लेकिन लंबे समय से इस विभाग में टिके होने से उनका नाम भी तबादला सूची में शामिल किया जा सकता है। 

इन शाखाओं में ट्रांसफर होना तय!

1-प्लानिंग शाखा

2-एडमिन शाखा

3-इंटेजिलेंस शाखा

4-सीआईडी शाखा

5-प्रबंध शाखा

6-रेलवे शाखा

7-नारकोटिक्स शाखा

8-पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन

कमलनाथ लंबे समय से जमे पुलिस अफसरों को हटाने का मन बना चुके हैं.उन्होनें साफ कहा भी था कि किसी भी पुलिस अफसर का ट्रांसफर या प्रमोशन किसी की सिफारिश के आधार पर नहीं बल्कि जनता से मिले फीडबैक के आधार पर किए जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here