सरकार का एक साल, सीएम कमलनाथ ने पेश किया “विजन टू डिलीवरी रोड मैप”

भोपाल| मध्य प्रदेश की कमालात सरकार के एक साल पूरे होने पर आज मुख्यमंत्री कमलनाथ ‘विजन टू डिलेवरी’ डॉक्यूमेंट पेश किया। इस दौरान पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी साथ रहे| भोपाल के मिंटो हॉल में हुए इस कार्यक्रम में सरकार के एक साल के विकास कार्यों को लेकर एक फिल्म का प्रदर्शन भी किया गया। विजन डॉक्यूमेंट के आधार पर भी एक फिल्म दिखाई गई, जिसमें अगले चार साल में सरकार का विजन के बारे में बताया गया। 

कार्यक्रम में सीएम कमलनाथ ने कहा कि मनमोहन सिंह जी ने कहा था कि आपकी सरकार के एक साल पूरे होने पर कार्यक्रम में शामिल होने मैं आऊंगा। अपने वादे के अनुसार वे यहां आए। सीएम ने कहा कि एक साल होने में बहुत कम समय लगाता है। उन्होंने कहा कि हमें केवल खाली तिजोरी ही नहीं मिली, लेकिन पिछली सरकार की कुछ ऐसी योजनाएं भी थी जिसका बजट में कोई प्रावधान नहीं था। 

सीएम कमलनाथ ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार का 6 क्षेत्रों में विशेष जोर रहेगा। इनमें आर्थिक विकास, सामाजिक न्याय और अधोसंरचना विकास मुख्य रूप से शामिल है।  किसानों की कर्जमाफी की दूसरी किश्त आज से शुरू होने जा रही है। जिनका 50 हजार का कर्जा माफ किया था अब एक लाख रुपए तक का कर्जा माफ किया जाएगा। बार-बार कहा जाता है कर्जा माफ नहीं हो रहा, हमारे पास हर गांव की सूची है, जिनका कर्जा माफ हुआ है। उनका फोन नंबर भी लिस्ट में है। 100 रुपए में 100 यूटिन योजना से 85 लाख लोगों को फायदा हो रहा है।   रेत खनन के लिए नीति बनाकर गलत काम रोका। इन्वेस्टर्स का विश्वास बनाने का प्रयास हमारी सरकार ने किया। हम विज्ञापन से नहीं प्रचार से आगे बढ़ेंगे।

“मध्यप्रदेश विज़न टू डिलीवरी रोड मैप 2020-25” में सरकार ने 10 लाख नए रोजगार के अवसर पैदा करने की बात कही गई है। 3.50 लाख जॉब मैन्युफैक्चरिंग तो 1.50 लाख सर्विस सेक्टर से रोजगार सृजित किए जाएंगे। इसके अलावा पांच लाख नौकरियां पर्यटन क्षेत्र से दी जाएंगी। इन लक्ष्यों को हासिल करने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद इस रोडमैप की मॉनिटरिंग करेंगे।