विधानसभा सत्र से पहले विपक्ष के तीखे हुए तेवर, सरकार पर बरसे शिवराज

भोपाल| विधानसभा के शीतकालीन सत्र से पहले प्रदेश अनेकों मुद्दों पर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी जंग देखने को मिल रही है| वहीं बर्खास्त विधायक प्रहलाद लोधी की सदस्यता को लेकर अब भी असमंजस की स्तिथि है| भाजपा लोधी को हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद उनकी सदस्यता बहाली के लिए अब  राज्यपाल से गुहार लगाएगी। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के नेतृत्व में भाजपा विधायक राज्यपाल लालजी टंडन से मिलकर लोधी की सदस्यता बहाल करने की मांग करेंगे। इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सरकार पर जमकर बरसे| 

मंगलवार को शिवराज गुरुनानक देव जी के 550 वें प्रकाश पर्व पर गुरुद्वारा पहुंचे| जहां उन्होंने गुरुग्रंथ साहिब के समक्ष मत्था टेका| इसके बाद मीडिया से चर्चा करते हुए शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर कई आरोप लगाए| प्रह्लाद लोधी के मामले में शिवराज बोले प्रहलाद लोधी आज भी विधायक हैं। अगर दल-बदल करके श्री लोधी दूसरे दल में जाते तो उनको अयोग्य घोषित करने का अधिकार विधानसभा अध्यक्ष के पास होता, लेकिन सजा के कारण वह सीट को रिक्त घोषित नहीं कर सकते हैं। यह अधिकार चुनाव आयोग की सलाह से केवल गवर्नर साहब को है। विधानसभा अध्यक्ष का फैसला पूरी तरह असंवैधानिक है| 

पैसा जा कहां रहा है, जवाब दें कमलनाथ 

योजनाओं के लिए बजट का हवाला देकर बंद करने और किसानों को पैसा न देने के मामले पर शिवराज बोले 2 लाख 35 हजार करोड़ का प्रदेश सरकार का बजट है। इन्होंने डीजल पेट्रोल पर 3-3 रुपया बढ़ा दिया। जनता का खून चूस कर पैसे निकाले जा रहे हैं और कर्मचारियों, किसानों, गरीबों को दे नहीं रहे हैं, तो पैसा जा कहां रहा है? इसका जवाब कमलनाथ को देना पड़ेगा।