मनोज ठाकरे हत्याकांड: भाजपा नेता ही निकला कातिल, राजनीतिक वर्चस्व के लिये कराई हत्या

police-arrest-bjp-leader-murderer-from-badwani

बड़वानी। मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले के बालवाड़ी बीजेपी मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस हत्याकांड के पीछे भाजपा का ही एक नेता मुख्य आरोपी है। राजनीतिक वर्चस्व के चलते भाजपा नेता ठाकरे की हत्या की गई थी। पुलिस ने इस हत्या के मामले में भाजपा प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ताराचंद राठौड़ और पुत्र दिग्विजय सहित सात आरोपितों को गिरफ्तार किया है।

दरअसल, इस हात्याकाड के पीछ आपसी रंजिश का मामला सामने आया है। ठाकरे के कारण आरोपी  भाजपा नेता  तारा चंद राठौर बंजारा का पार्टी के अंदर वर्चस्व कम हो रहा था। बस यही बात तारा चंद को खटक रही थी। इसलिए उसने अपने सियासी सफर में अड़चन बने ठाकरे को रास्ते से हटाने का फैसला कर लिया। फिर उसने बिस्टान के अनिल को पांच लाख में सुपारी देकर हत्या करवा दी। ताराचंद राठौड़ और उसके बेटे ने हत्या की साजिश रची। विधानसभा चुनाव से पहले भी आरोपित के बेटे दिग्विजयस सिंह ने भाजपा नेता मनोज ठाकरे को चेतावनी दी थी।

यह है मामला 

20 जनवरी की सुबह बलवाड़ी क्षेत्र में भाजपा मंडल अध्यक्ष मनोज ठाकरे का शव बलवाड़ी सेंधवा रोड पर घर से करीब एक किमी दूर खेत में मिला था। मनोज ठाकरे की हत्या सिर पर पत्थर से वार कर की गई थी। पुलिस को मौका ए वारदात पर एक खून से सना पत्थर भी मिला था। मनोज ठाकरे की हत्या के बाद जिले सहित प्रदेश की राजनीति में बवाल मच गया था। इंदौर में व्यापारी की हत्या, मंदसौर में नगर पालिका अध्यक्ष की हत्या के बाद बलवाड़ी में भाजपा मंडल अध्यक्ष की हत्या का लगातार तीसरा प्रकरण था।

ये हैं मुख्य आरोपी

मुख्य आरोपियों में भाजपा के प्रभावशाली एवं पूर्व जनपद उपाध्यक्ष सेंधवा तथा वर्तमान में भाजपा के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य ताराचंद राठौर, उनका लड़का एवं ग्राम पंचायत खोखरी का पंचायत सचिव दिग्विजय सिंह राठौर, झगरिया, नानू,अनिल, कालू, दिलीप के नाम हैं। पुलिस ने इस मामले में 7आरोपियों को गिरफ्तार किया है। जबकि 3 आरोपी धवलिया ओर रामू अभी फरार हैं।