कैबिनेट मंत्री को रिश्वत की पेशकश करने वाले भू माफिया को पुलिस ने किया गिरफ्तार

भोपाल। मध्य प्रदेश में भू माफियाओं के खिलाफ अभियान चल रहा है। इसी के तहत पुलिस ने रोहित नगर सोसायटी में करोड़ों के घोटाले का मामला करने वाले भू माफिया  घनश्याम राजपूत को पुलिस ने गरिफ्तार कर लिया है। भोपाल का बड़े भू- माफिया के तौर पर गिने जाने वाले घनश्याम राजपूत को कोलार पुलिस ने उसी के घर से गिरफ्तार किया है। बता दें कि आरोपी घनश्याम राजपूत पर भोपाल पुलिस ने 20000 का ईनाम घोषित किया था।

दरअसल, सहकारित मंत्री गोविंद सिंह ने कुछ दिन पहले एक बयान दिया था कि रोहित नगर सोसायटी के अध्यक्ष घनश्याम राजपूत ने उन्हें रिश्वत की पेशकश की थी। जिससे वह घोटाले से बच सके। मंत्री का कहना था कि हाउसिंग सोसायटी (Society Scam) में बचने के लिए ऐसा किया गया था। राजपूत पहले रेलवे में क्लर्क की नौकरी करता था। उसके घर पर सीबीआई के छापे (CBI Raid) भी पड़ चुके हैं। राजपूत तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Ex CM Shivraj Singh Chouhan) की सरकार में काफी रसूखदार व्यक्ति था। उसी रसूख का फायदा उठाते हुए उसके खिलाफ दर्ज 2009 की शिकायत पर ईओडब्ल्यू कोई एक्शन नहीं ले पा रहा था।  इस संस्था के पदाधिकारी रहे राजपूत ने करीब साढ़े 22 करोड़ रुपए का हेर—फेर किया है। पात्रों को प्लॉट न देना और संस्था के खाते से रकम अपने निजी काम में इस्तेमाल करने जैसे संगीन आरोप राजपूत पर हैं।