शिवराज का कांग्रेस पर पलटवार, ‘जब ऋषि-मुनि यज्ञ करते थे, तो असुर विघ्न डालते थे’

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के भूमिपूजा की तारीख और उसके मुहूर्त पर विवाद बढ़ता जा रहा है। इसको लेकर मध्य प्रदेश में सियासत गर्म है| पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह द्वारा बार बार मुहूर्त को लेकर उठाये जा रहे सवालों पर भाजपा ने पलटवार किया है| मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा कि जिन्होंने श्रीराम के अस्तित्व को ही नकार दिया, आज राम मंदिर के निर्माण के शुभ-अशुभ समय के निर्धारण करने में लगे हैं। जब ऋषि-मुनि यज्ञ करते थे, तो असुर और राक्षस आकर उसमें विघ्न डालते थे, कांग्रेस के नेता यही चरितार्थ कर रहे हैं।

सीएम शिवराज ने ट्वीट कर कांग्रेस पर निशान साधा| उन्होंने लिखा-कांग्रेस के नेता, जिन्होंने श्रीराम के अस्तित्व को ही नकार दिया, आज राम मंदिर के निर्माण के शुभ-अशुभ समय के निर्धारण करने में लगे हैं। अरे कांग्रेसियों, राम का नाम लेने से ही समय शुभ हो जाता है! उन्होंने आगे लिखा-इस निकृष्ट सोच और सनातन धर्म की आस्थाओं के साथ खिलवाड़ का नतीजा है कि आज सम्पूर्ण कांग्रेस अपने पतन की ओर अग्रसर है। कांग्रेस के लिए राम, राजनीति के विषय होंगे लेकिन हमारे लिए राम, भक्ति और आस्था के विषय हैं।

जब ऋषि-मुनि यज्ञ करते थे, तो असुर विघ्न डालते थे
शिवराज ने लिखा- कांग्रेस के ही कुछ अतिउत्साही नेताओं ने नारा दिया था,’मंदिर वहीं बनाएंगे,लेकिन तारीख नहीं बताएंगे!’ वह शुभ घड़ी आई तो उनके पेट में दर्द होने लगा है। पौराणिक काल में जब ऋषि-मुनि यज्ञ करते थे, तो असुर और राक्षस आकर उसमें विघ्न डालते थे, कांग्रेस के नेता यही चरितार्थ कर रहे हैं।

हिंदू धर्म की मान्यताओं को नज़र अंदाज करने का नतीजा
इससे पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर लिखा कि ‘मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम अखिल कोटि ब्रह्मांड नायक हैं,लेकिन “भाजपा”अपने राजनैतिक स्वार्थ और सत्ता के अहंकार में, सनातन धर्म की मान्यताओं और शास्त्रीय मर्यादाओं को ताक पे रख कर “रामलला” पर अवैध “क़ब्ज़ा” करना चाहती है,जिसे ये देश कभी माफ़ नहीं करेगा’।

आगे ट्वीट में दिग्विजय ने लिखा है कि सनातन हिंदू धर्म की मान्यताओं को नज़र अंदाज करने का नतीजा। 1- राम मंदिर के समस्त पुजारी कोरोना पोजिटिव ।2- उत्तर प्रदेश की मंत्री कमला रानी वरुण का कोरोना से स्वर्गवास। 3- उत्तर प्रदेश के भाजपा अध्यक्ष कोरोना पोजिटिव अस्पताल में।4- भारत के गृह मंत्री अमित शाह कोरोना पोजिटिव अस्पताल में। 5- मध्यप्रदेश के भाजपा के मुख्यमंत्री व भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष कोरोना पोजिटिव अस्पताल में ।6- कर्नाटक के भाजपा के मुख्यमंत्री कोरोना पोजिटिव अस्पताल में।त्रुटि के लिए क्षमा प्रार्थी हूँ। अमित शाह गृहमंत्री हैं ना कि प्रधानमंत्री। क्षमा करें।