हनुमान की जाति पर राजनीति, दिग्गी बोले..’जय बजरंग बलि, तोड़ एेंसे लोगों की नली’

Politics-on-the-caste-of-Hanuman

भोपाल| उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा हनुमान को दलित बताने के बाद से देश भर में बयानबाजी का दौर शुरू हो गया है और हनुमान को अलग अलग जाति से सम्बन्ध होंगे का दावा किया जा रहा है| इस बीच सोशल मीडिया पर इसको लेकर महायुद्ध छिड़ा हुआ है| एक के बाद एक बड़े नेता बयानबाजी कर रहे हैं, कोई हनुमान को दलित कह रहा, कोई उन्हें मुसलमान तो कोई आदिवासी कहता है| भगवान हनुमान की जाति बताए जाने को लेकर हो रही बयानबाजी पर सवाल उठाते हुए अब कांग्रेस के दिग्गज नेता और मध्य प्रदेश पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कड़ी आलोचना की है और भाजपा पर निशाना साधा है| 

दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर भाजपा नेताओं पर निशाना साधा है| उन्होंने लिखा है कि “भाजपा नेता गण यह कौन से धर्म का पालन कर रहे हैं? भाजपा के मुख्य मंत्री  हनुमान जी को दलित बताते हैं भाजपा के विधान परिषद के सदस्य उन्हें मुसलमान बताते हैं भाजपा के मंत्री उन्हें जाट बताते हैं। हम तो उन्हें ईश्वर का अवतार मानते हैं। जय बजरंग बली तोड़ एेंसे लोगों की नली!”

गौरतलब है कि देश की राजनीती में कब कौनसा मुद्दे पर सियासत तेज हो जाए यह कह नहीं सकते| अब तक देश में राम के नाम पर नेता राजनीति करते थे| लेकिन इन दिनों भगवान् हनुमान की जाति को लेकर युद्ध छिड़ा हुआ है|  उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजस्थान में चुनाव प्रचार के दौरान भगवान हनुमान को दलित बताया था, इसके बाद हर कोई अपने हिसाब से उनकी जाति बता रहा है| ख़ास बात यह है कि जाति बताने वाले तर्क भी अजीबो गरीब दे रहे हैं| योगी के यूपी के विधान परिषद के सदस्य बुक्कल नवाब ने हनुमान को मुसलमान बताया और फिर योगी सरकार मेॆ धर्मार्थ कार्य मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने विधान परिषद में हनुमान को जाट बता दिया।  कई नेता तो हनुमान को जाट और चीन का निवासी बताने लगे हैं| अब बीजेपी सांसद उदित राज ने एक कदम और बढ़ाते हुए कहा कि हनुमान का कोई अस्तित्व ही नहीं था| भगवान हनुमान के प्रति हो रही इस बयान बाजी की चौतरफा आलोचना की जा रही है।