प्रभात झा ने Kamalnath को बताया चीन का एजेंट, कहा- चीनभक्ति के आगे राष्ट्रभक्ति ने टेके घुटने

भोपाल।

मध्यप्रदेश(madhyapradesh) की हवा में उपचुनाव(by-election) से पहले राजनीति(politics) घुलने लगी है। पार्टी द्वारा एक दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है। इसी बीच बीजेपी(bjp) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा(National Vice President Prabhat Jha) ने कांग्रेस(congress) के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी(Former President Rahul Gandhi) और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ(Former Chief Minister Kamal Nath) पर जमकर निशाना साधा है। कमलनाथ पर बड़ा आरोप लगाते हुए प्रभात झा ने उन्हें चीन का एजेंट बताया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि कांग्रेस की चीनभक्ति ने राष्ट्रभक्ति के आगे घुटने टेक दिए हैं।

दरअसल गुरुवार को बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा की मध्य प्रदेश में हुई वर्चुअल रैली में हुए खुलासे के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कांग्रेस सहित राहुल गांधी और कमलनाथ पर जमकर हमला बोला है। प्रभात झा ने कहा कि आज देश के पत्रकारों ने बहुत बड़ा खुलासा किया है। जिस वक्त लोगों को चाइना बॉर्डर पर भारत चीन के साथ चल रही तनातनी में देश का साथ देना चाहिए वह लोग ऐसे संकट की घड़ी में देश के खिलाफ बयान दे रहे हैं। वहीं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने कमलनाथ पर बड़ा निशाना बनाते हुए कहा है कि इन सब के बीच में सबसे प्रमुख भूमिका में कमलनाथ है। कमलनाथ चीन के एजेंट बनकर वाणिज्य मंत्री के तौर पर काम कर रहे थे। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि चीन की आयात शुल्क को कम करने के साथ-साथ उस राशि को राजीव गांधी फाउंडेशन में जमा करने का काम भी कमलनाथ को ही सौंपा गया था। हुए उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा है कि अगर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने खुद ही इस बात का खुलासा नहीं किया तो बीजेपी देश के हर शहर हर गांव में इस बारे में लोगों को बताएगी।

बता दें कि गुरुवार को होने वाली इस वर्चुअल रैली से पार्टी कार्यकर्ता, प्रबुद्धजन एवं बड़ी संख्या में आम नागरिक को जोड़ने का लक्ष्य था। पार्टी की ओर से पूरे प्रदेश में इस रैली की तैयारियां पूरी की गई थी। वहीं राजधानी भोपाल स्थित प्रदेश कार्यालय में विशेष व्यवस्थाएं की गई थी। जहाँ वर्चुअल रैली में बीजेपी अध्यक्ष नड्डा ने कहा था कि चीन और कांग्रेस के बीच गुपचुप रिश्ता है। वहीँ जिस राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन फंडिंग करता है। उसकी चेयरपर्सन सोनिया गांधी हैं और कई कांग्रेस नेता इससे जुड़े हुए हैं। उन्होंने बड़ा दावा किया है कि 2017 के अगस्त माह में जब चीन और भारत आमने सामने थे, तब राहुल गांधी चीन के राजदूत के साथ गुपचुप मुलाकात कर रहे थे। इसके बाद से बीजेपी चीन पर हमलावर हुई है