Pre-Monsoon: इन जिलों में बदले मौसम से मिली राहत, बारिश और तेज आंधी की चेतावनी

4667
pre-monsoon-rain-in-many-district-in-madhya-pradesh-

भोपाल| भीषण गर्मी से जूझ रहे प्रदेश के लोगों को अब राहत मिली है| बुधवार शाम हुई बारिश के बाद गुरुवार को भी प्रदेश के कई इलाकों में तेज आंधी और जोरदार बारिश हुई| प्रदेश में प्री-मानसून गतिविधियां शुरू हो गई हैं। जिसके कारण शाम के समय अधिकांश हिस्सों में तेज हवा, आंधी और बारिश होना शुरू हो गई है| वहीं मौसम विभाग ने प्रदेश के अनेक इलाकों में 50 किलोमीटर की रफ्तार से तूफान और तेज बारिश की चेतावनी जारी की है। गुरूवार को ग्वालियर चम्बल, छतरपुर, टीकमगढ़ और जबलपुर में मौसम का बदला मिजाज देखने को मिला| जहां तेज अंधी के साथ ही बारिश हुई| बारिश से लोगों को काफी हद तक गर्मी से राहत मिली है।

बुधवार को रायसेन, रतलाम, श्योपुर, शिवपुरी और ग्वालियर समेत मालवा निमाड़ के कई स्थानों पर तेज बौछारों के कारण गुरुवार को सुबह से गर्मी में थोड़ी राहत मिली है। कई स्थानों पर छिटपुट बौछारें हुई हैं। इससे गर्मी से हल्की राहत मिली है। इसके बाद गुरूवार शाम को भी कई स्थानों पर अच्छी बारिश के समाचार मिले हैं| मौसम विज्ञानियों ने शुक्रवार से फिर तपन बढ़ने की आशंका जताई है। वायु तूफान की दिशा बदलने से मौसम साफ रहेगा और तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है। हालांकि विज्ञानियों का अनुमान है कि तपन बढ़ने से जिलों में बारिश के साथ हवाएं भी चलेंगी। गुरुवार को अंचल में खजुराहो व नौगांव 43 डिसे के साथ गर्म रहे। मुरैना, टीकमगढ़, श्योपुर और भिंड में पारा 41 डिसे के आसपास रहा। जिलों के न्यूनतम तापमान में जरूरी खासी कमी दर्ज की गई। वहीं भोपाल में 26 दिन बाद तापमान 40 डिग्री से नीचे आया है। ऐसा 19 मई को हुआ था, उस दिन भी 39.9 डिग्री तापमान था। 

बारिश और आंधी की चेतावनी 

शिवपुरी के खनियाधाना, बदरवास, रन्नौद में जोरदार बारिश से राहत मिली। वहीं अन्य जिलों के कुछ हिस्सों में भी आंशिक बारिश हुई। मौसम विज्ञानियों के अनुसार अंचल के जिलों में गरज-चमक के साथ बारिश भी हो सकती है। विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई कि 16 जून के बाद राजस्थान से आने वाली गर्म हवाएं भी बंद हो सकती हैं। बंगाल की खाड़ी में सिस्टम बनने से मानसून की रफ्तार तेज होने की उम्मीद है। जबलपुर में भी दोपहर बाद अच्‍छी बारिश हुई। कुछ स्‍थानों पर आंधी से पेड़ भी गिर गए। मौसम विभाग ने गुरुवार को प्रदेश के भोपाल और जबलपुर समेत 20 शहरों में तूफान आने और भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसके साथ ही ग्वालियर और चंबल समेत 9 शहरों में धूल भरी आंधी के साथ बौछारें पड़ने की चेतावनी जारी की है। 

महाकोशल- विंध्य में राहत, जबलपुर में जोरदार बारिश 

मौसम के बदले मिजाज ने महाकोशल- विंध्य में भी रहत दी| गुरुवार को यहां तेज आंधी, बारिश हुई। डिंडौरी में शाम को साढ़े पांच के बाद बारिश शुरू हुई। करीब एक घंटे जोरदार बारिश हुई। शहडोल व अनूपपुर में तेज आंधी के साथ बारिश हुई। कटनी में भी साढ़े पांच के बाद तेज आंधी के साथ करीब एक घंटे तक झमाझम बारिश हुई। दमोह में दोपहर बाद तेज आंधी चली जिससे पेड़ गिरा गया। हटा में गुरुवार की दोपहर तेज आंधी के साथ बारिश शुरू हुई और पंजीयन कार्यालय के सामने पानी भर गया। वहीं जबलपुर में गुरुवार को प्री मानूसन बारिश से शहर तर-बतर हो गया। दोपहर बाद जोरदार बारिश और आंधी चली, आधे घंटे की बारिश में ही शहर के कई क्षेत्रों में दर्जनों पेड़ जड़ से उखड़ गए। टीन शेड से लेकर कचरा तक हवा में उड़ते देखा गया। एक-दो बस्तियों में पानी भी भरा। अचानक अंधड़ चलने से शहर के विभिन्न् हिस्सों में बिजली गुल हो गई। मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक यह प्री मानूसन का असर है। 

5 राज्‍यों के 50 शैरोन में भारी बारिश के आसार, मप्र के यह शहर 

देश के 5 राज्‍यों के 50 से अधिक शहरों में अगले 24 घंटों में जोरदार बारिश की संभावना जताई गई है।  गुजरात में वायु चक्रवात के असर के कारण आसपास के इलाकों में बारिश होगी, वहीं मानसून की दस्‍तक देते ही कई राज्‍य बारिश से तरबतर होंगे। स्‍कायमेट के अनुसार उत्‍तर प्रदेश, मध्‍यप्रदेश और कर्नाटक ऐसे राज्‍य हैं, जहां भारी बारिश हो सकती है। आइये जानते हैं कौन से इलाके प्रभावित होंगे। इनमे मध्य प्रदेश के बालाघाट, छतरपुर, छिंदवाड़ा, दमोह, डिंडोरी, गुना, होशंगाबाद, जबलपुर, कटनी, मंडला, पन्ना, रायसेन, रीवा, सागर, सिवनी, शहडोल, शिवपुरी, सीधी, उमरिया, विदिशा आदि जिलों में आंधी और बारिश की संभावना है।