रेलवे बोर्ड का बड़ा फैसला, यात्रियों की जेब पर बढ़ेगा बोझ

भोपाल।

लॉकडाउन के बीच अब रेलवे बोर्ड ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसके बाद अब यात्रियों की जेब खर्च के भार बढ़ जायेंगे। रेल मंत्रालय ने सभी 17 जोन की करीब 508 पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस का दर्जा देने की घोषणा की है। इसी के तहत किराए में बढ़ोतरी होने जा रही है। वहीँ रेलवे बोर्ड ने पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस करने से पहले उनके स्टॉपेज भी कम करने को कहा है।

दरअसल रेल मंत्रालय ने करीब 508 पैसेंजर ट्रेनों को एक्सप्रेस ट्रेन बनाने की घोषणा की है। जिसके कारन अब एक्सप्रेस ट्रैन में किराया बढ़ना तय है। बता दें कि पैसेंजर श्रेणी की ट्रेनों का बेस किराया 3 रुपए है। जबकि एक्सप्रेस श्रेणी का 29 रुपए लगता है। ट्रेन के पैसेंजर से एक्सप्रेस होने के साथ ही यात्रियों से 29 रुपए किराया प्रति यात्री लिया जायेगा। वहीँ 300 किमी से ज्यादा का सफर करने वाली भोपाल-जोधपुर जैसी फास्ट पैसेंजर में यात्रा करने के लिए यात्रियों को 60 की जगह 101 रुपए देना होंगे।

इसी के साथ अब भोपाल से सूखी सेवनिया, दीवानगंज, बैरागढ़ या मंडीदीप जैसे स्टेशन तक का रेल किराया तीन गुना तक बढ़ने जा रहा है। माना जा रहा है कि एक जुलाई के बाद लागू किया जा सकता है। इन ट्रेनों में चाहे यात्री ने 10 किमी ही सफर किया हो लेकिन उसे 50 किमी का किराया यात्रियों से लिया जाएगा। जानकारी के मुताबिक भोपाल से चलने या गुजरने वाली झांसी-इटारसी पैसेंजर, भोपाल-इंदौर पैसेंजर, विंध्याचल, भोपाल-जोधपुर फास्ट पैसेंजर सहित पश्चिम-मध्य रेलवे जोन की 32 ट्रेनों को एक्सप्रेस बनाया जा रहा है।