मौसम का मिजाज बदला, इन जिलों में बारिश के साथ गिरे ओले, अगले 24 घंटे अलर्ट

rain-and-hail-storm-in-many-district-in-madhya-pradesh

भोपाल| मौसम ने अचानक करवट बदल ली है, जिससे तापमान में भी गिरावट आई है|  मौसम विभाग के अनुसार 16 और 17 तारीख को भी देश के कईं राज्यों में मौसम ऐसा ही बना रहेगा और बारिश के साथ ओले गिर सकते हैं। जिन राज्यों में मौसम तेजी से बदल रहा है इसमें मध्य प्रदेश भी शामिल है| प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान इंदौर, उज्जैन एवं चंबल संभागों के जिलों में कहीं-कहीं बारिश और ओलावृष्टि हुई हैं। वहीं मंगलवार को मालवा-निमाड़ के कई जिलों समेत प्रदेश के अलग अलग स्थानों पर बारिश हुई है| 

मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार दक्षिण पश्चिम राजस्थान में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। यह पिछले दो दिन से सक्रिय है। जिसका असर मध्यप्रदेश पर पड़ रहा है। वहीं, आसमान में पूर्वी उत्तर प्रदेश से महाराष्ट्र तक बनी नमी रहित ट्रफ लाइन के चलते मौसम एकदम बदल गया है। इसका असर मंगलवार और बुधवार को भी रहेगा। 

सुबह से कई जगह हुई बारिश 

मंगलवार को सुबह से ही कई जिलों में मौसम बदला रहा| कई स्थानों पर बारिश और ओले गिरे| नीमच से 40 किमी दूर स्थित डीकेज में तेज बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई। आगर में भी तेज बारिश के साथ ओले गिरे, इसके बाद मंडी में अफरा-तफरी मच गई। नीमच जिले के रामपुरा में बारिश की वजह से गेहूं और चना समर्थन केंद्रों पर अफरा-तफरी का माहौल हो गया। भानपुरा में समर्थन मूल्य पर तुलने आए हजारों क्विंटल गेहूं गीले हो गए। वहीं जो गेहूं खुले में पड़ा था वह भी गीला हो गया। रानापुर में भी बारिश से जन-जीवन अस्त-व्यस्त हो गया। शिवपुरी में भी मंगलवार को बारिश हुई है| 

अगले 24 घंटे कई जिलों में तेज बारिश की चेतावनी 

प्रदेश के कई इलाकों में हुई हल्की बारिश से मौसम खुशनुमा हो गया। मौसम विभाग ने अगले एक-दो दिन ऐसा ही मौसम बने रहने की संभावना जताई है। वहीं, शाम को प्रदेश के कई संभागों में गरज-चमक के साथ आंधी चलने की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अगले 24 घंटों में इंदौर, उज्जैन, जबलपुर, रीवा, भोपाल, ग्वालियर और चंबल संभाग में गरज-चमक बारिश के साथ आंधी चल सकती है, कई जगह ओले भी गिर सकते हैं। अगले 24 घंटे के दौरान रीवा सहित आस – पास के जिलों सीधी,सतना,सिंगरौली में बारिश की संभावना जताई गई है। 16 अप्रेल की रात से 17 अप्रेल दोपहर के बीच बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने 10 मिली मीटर वर्षा की संभावना जताई है। मंगलवार को सुबह से ही मौसम में इसका असर दिखने लगा है। आसमान में घने बादल छाए हुए हैं। धूप नहीं निकली है।

सोमवार को बारिश के साथ गिरे ओले 

प्रदेश के कई जिलों में सोमवार को तेज हवा के साथ बादल छाए रहे और धूल भरी आंधी के बीच गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ीं। कई स्थानों पर ओले गिरने की भी खबर आई।  बादल और हवा के चलते दिन के तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। 42 और 43 डिग्री तक पहुंच चुका पारा 2 से 3 डिग्री तक लुढ़क कर 38 से 39 डिग्री के बीच आ गया। वहीं अचानक बदले इस मौसम ने किसानों को चिंता में डाल दिया है। प्रदेश में अभी सभी किसानों की फसल नहीं कटी है, जिससे पानी लगने से फसलों को भारी नुकसान होगा| इसके अलावा खरीदी केंद्रों पर खुले में रखा लाखों क्विंटल अनाज के भी भीगने की आशंका खड़ी हो गई है। विदिशा समेत कुछ जिलों में तो करीब आधा घंटे तक तेज बारिश हुई है। वहीं ग्वालियर, भोपाल एवं होशगाबाद संभागों के जिलों में धूल भरी आंधी चली। सागर दमोह, नरसिंहपुर, जबलपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी एवं बालाघाट जिले में कहीं-कहीं गरज-चमक के साथ बौछारें पड़ी। धार जिले के नालछा में एक सेमी बारिश दर्ज की गई।