मप्र में कई इलाकों में बारिश के साथ गिरे ओले, दिन में भी कंपकपा रही ठंड

rainfall-In-many-parts-of-the-mp--the-cold-even-during-the-day

भोपाल| मध्य प्रदेश में एक बार फिर कड़ाके की सर्दी का दौर शुरू हो गया है| दिन में ठण्ड कंपकंपा रही है| प्रदेश के कई हिस्सों में गुरूवार को दिन और रात में बारिश के साथ ओलावृष्टि हुई है| जिसके चलते शुक्रवार की सुबह कड़ाके की सर्दी लेकर आई| सुबह से धुंध छाई हुई है, लगभग आधे प्रदेश में कोहरे छाया हुआ है और दोपहर भी सुबह जैसी लगी|  भोपाल में सुबह साढ़े पांच बजे दृश्यता 1500 मीटर थी, जो 6:30 बजे तक 50 मीटर हो गई। उधर, सतना में सुबह तेज बारिश के साथ ओले गिरे। भोपाल समेत राजगढ़, जबलपुर, नीमच, शाजापुर और मंडला में कोहरा छाया हुआ है।  मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि आने वाले 24 घंटों के दौरान भी प्रदेश के कई जिलों में बारिश के साथ ओलावृष्टि की आशंका है।

हिमाचल प्रदेश और कश्मीर में जोरदार बर्फबारी का सिलसिला जारी है| मौसम के इस मिजाज का असर मध्य प्रदेश में देखने को मिल रहा है| राजधानी समेत प्रदेश के ज्यादातर हिस्से में घने कोहरे के साथ सुबह हुई। ग्वालियर में सबसे घना कोहरा रहा। यहां विजिबिलिटी शून्य हो गई, जबकि भोपाल में सुबह साढ़े पांच बजे दृश्यता 200 मीटर थी, जो 6:30 बजे 50 मीटर हो गई। वहीं सिवनी, सारनी, बैतूल, छिंदवाड़ा, मुल्ताई, मंडला, सतना, छतरपुर, मुरैना के कई इलाकों में बारिश के साथ ओले गिरे। जिसके कारण मौसम में ठंडक घुल गई है | 

बेमौसम बारिश से फसलों को नुकसान 

प्रदेश के सिवनी-मालवा में सुबह और बैतूल में दोपहर के समय तेज बारिश के साथ जमकर ओले गिरे। इसके अलावा शहडोल, सतना, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली में भी ओलावृष्टि हुई। इससे फसल खराब होने की संभावना जताई जा रही है और किसान चिंतित हैं। अचानक हुई बारिश और ओलावृष्टि से गेहूं, चना, मटर के साथ मैथी, हरी धनिया, पालक, सेमी की फसल को खासा नुकसान हुआ है। फसलों के साथ धान खरीदी केंद्रों में खुले में बिना सुरक्षा के रखी हजारों क्विंटल धान भीग गई। इससे किसानों को नुकसान हो सकता है। 

बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना 

मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश के भोपाल, ग्वालियर, चंबल, सागर, रीवा, होशंगाबाद, रीवा, शहडोल और जबलपुर संभाग के जिलों में बारिश के साथ ओले गिरने की संभावना है। जबकि प्रदेश के ज्यादातर हिस्से में बादल छाए रहने से धूप नहीं खिलेगी। इस कारण ठंड अधिक महसूस होगी। मौसम विभाग ने यह भी कहा है कि भोपाल,ग्वालियर, चंबल, उज्जैन, सागर और रीवा संभागों के जिलों में कहीं-कहीं घना कोहरा और कहीं मध्यम कोहरा छाए रहने की आशंका है।

कहां कितना तापमान

-मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में न्यूनतम तापमान 12.4 डिग्री रिकार्ड किया गया, जबकि आने वाले दो दिनों में तापमान में और गिरावट हो सकती है। अधिकतम तापमान 26 डिग्री के आसपास बना हुआ है। यहां बादल छाए रहने के कारण बारिश और ओलावृष्टि की आशंका व्यक्त की गई है।