भोपाल।

मध्यप्रदेश(madhyapradesh) में कोरोना संक्रमण(coroana infection) के बढ़ते मामले अब चुनाव पर भी अपना असर दिखाने लगे हैं। जैसे-जैसे राज्यसभा चुनाव(rajyasabha election) की घड़ी नजदीक आ रही है। वैसे वैसे नेताओं को कड़े निर्देश दिए जा रहे हैं। राज्यसभा चुनाव में विधायकों (mlas)  को संक्रमित होने से रोकने के लिए नए निर्देश बनाए गए हैं। जिसके मुताबिक विधायकों को चेकअप के बाद ही सदन में प्रवेश करने की अनुमति होगी। अगर किसी विधायक मैं कोरोना के सामान्य लक्षण भी पाए जाते हैं तो ऐसे विधायक को बाद में वोटिंग करना होगा।

दरअसल शनिवार को कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी(congress mla kunal choudhary) के रिपोर्ट पॉजिटिव(report posiive) आने के बाद राज्यसभा चुनाव पर इसका असर साफ देखा जा रहा है। पार्टियां अपने विधायको को संक्रमण से बचाने के लिए कड़े कदम उठा रही है। इसी बीच अब राज्यसभा चुनाव को लेकर बीजेपी(BJP) ने बड़ी तैयारी की है। बीजेपी ने अपने सभी विधायकों को वोटिंग से 2 दिन पूर्व ही राजधानी पहुंचने का आदेश जारी किया है। 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए बीजेपी के सभी विधायक 17 जून को राजधानी पहुंचेंगे। वही 18 जून को उनके लिए ट्रेनिंग आयोजित की जाएगी।

बता दें कि 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव के लिए केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावेडकर और बीजेपी के प्रदेश प्रभारी विनय सहस्त्रबुद्धे विधायकों को राज्यसभा चुनाव की ट्रेनिंग देंगे। जैसा कि आपको मालूम है लम्बे इंतजार के बाद एमपी में राज्यसभा के तीन रिक्त सीटों पर मतदान के तारीखों का एलान किया गया है। मध्य प्रदेश से तीन सीटें दिग्विजय सिंह, प्रभात झा और सत्यनारायण जटिया का कार्यकाल नौ अप्रैल को समाप्त हो जाने के बाद से रिक्त है। नियमानुसार चुनाव अप्रैल में ही हो जाने थे, लेकिन कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण इन सीटों पर अभी तक चुनाव नहीं कराया जा सका है। अब 19 जून को इन सीटों पर चुनाव होगा| इसी दिन नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे।