सीएम शिवराज सिंह चौहान ने किया आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप जारी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। सीएम शिवराज सिंह चौहान (CM Shhivraj singh chauhan) ने आज आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश संंबंधी महत्वाकांक्षी रोडमैप का विमोचन किया। भोपाल के मिंटो हॉल में इसे जारी करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ये चुनौती को अवसर में बदलने का रोडमैप है।

मध्यप्रदेश सरकार (Madhya Pradesh Government) ने अगले तीन साल में राज्य को आत्मनिर्भर (Self dependent) बनाने का रोडमैप (Road Map) तैयार किया है। ये रोडमैप-2023 आज जारी किया जाएगा। मध्यप्रदेश,आत्मनिर्भर भारत की रणनीति के मुताबिक रोडमैप जारी करने वाला पहला राज्य है। इसके विमोचन पर सीएम शिवराज ने कहा कि मध्य प्रदेश में विकास कार्यों में धन की कमी नहीं आने दी जाएगी और बजट के बाहर से भी राशि का इंतजाम किया जाएगा। उन्होने कहा कि कोरोना संकटकाल में वित्तीय चुनौतियों के बावजूद सरकार आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। इस रोडमैप में कृषि, किसान, ग्रामीण विकास, ढांचागत सुविधाओं, शिक्षा, स्वास्थ्य सहित अन्य क्षेत्रों में आत्मनिर्भर बनने की दिशा में बढ़ने के लिए रणनीति है। इस अवसर पर सीएम ने प्रशासन के साथ नागरिकों से भी इन उद्देश्यों की पूर्ति के लिए सहयोग देने का आह्वान किया। इस कार्यक्रम में प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा भी उपस्थित थे। वहीं भारत सरकार के नीति आयोग के मुख्य कार्यकारी अधिकारी अमिताभ कांत वीडियो कॉनफ्रेंसिंग के जरिये उपस्थित रहे। इसके अलावा वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मंत्री, सांसद, विधायक, कमिश्नर और कलेक्टर भी शामिल हुए।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के आत्मनिर्भर भारत की रणनीति के अनुरूप मध्यप्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसने विभिन्न विषय-विशेषज्ञों से परामर्श कर आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप तैयार किया है। इस रोडमैप को प्रदेशवासियों के सामने रखा गया है। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप को तैयार करने के लिए मुख्यमंत्री चौहान द्वारा चार मुख्य विषयों भौतिक अधोसंरचना, सुशासन, स्वास्थ्य एवं शिक्षा और अर्थव्यवस्था एवं रोजगार पर राष्ट्रीय वेबिनार आयोजित किए गए। इन वेबिनार में नीति आयोग के प्रतिनिधि, सुशासन, स्वास्थ्य, शिक्षा और अर्थव्यवस्था से जुड़े विषय-विशेषज्ञों को आमंत्रित कर उनके सुझाव प्राप्त किए गए। इन वेबिनारों में प्राप्त हुए सुझाव के आधार पर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप की कार्ययोजना तैयार की गई है। इस रोडमैप के क्रियान्वयन को लेकर लगातार समीक्षा की जाएगी और प्रत्येक तीस दिन में विभागों को अपनी रिपोर्ट देनी होगी।

 

 

 छह माह के लंबे मंथन के बाद शिवराज सरकार ने आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप 2023 तैयार कर लिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को भोपाल के मिंटो हॉल में आयोजित कार्यक्रम में इसे जारी करते हुए कहा कि यह चुनौती को अवसर में बदलने का रोडमैप है। इसमें दावा किया गया है कि किसानों की आय दोगुनी करने के साथ रोजगार के मौके बढ़ाये जाएंगे। इसके लिए निवेश को बढ़ावा देने के साथ कृषि को प्रसंस्करण से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि चंबल (अटल प्रोग्रेस वे) एक्सप्रेस वे और नर्मदा एक्सप्रेस वे सिर्फ सड़क ही नहीं बल्कि विकास के मार्ग होंगे। इनके दोनों ओर औद्योगिक पार्क विकसित किये जाएंगे। भोपाल-इंदौर एक्सप्रेस वे को आदर्श बनाया जाएगा। निवेश को बढ़ावा देने के साथ जरूरी धनराशि का इंतजाम बजट के बाहर से किया जाएगा। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से इस कार्यक्रम में मंत्री, सांसद, विधायक, कमिश्नर और कलेक्टर शामिल हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here