अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे SAHARA India के एजेंट, सुब्रतो राय सहित पदाधिकारियों की गिरफ़्तारी की मांग

SAHARA India: छत्तीसगढ़ के ही कलेक्ट्रेट के पास सहारा एजेंटों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू हो गया है।a

SAHARA

रायपुर, डेस्क रिपोर्ट। देशभर में SAHARA India की मुश्किल बढ़ती जा रही है। दरअसल भारत के कई राज्यों में सहारा के एजेंट (Agent) और निवेशक (investors) द्वारा भुगतान के लिए कंपनी पर दबाव बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं कई जगह पर सहारा इंडिया के खिलाफ FIR दर्ज भी कराए जा रहे हैं। इसी बीच छत्तीसगढ़ के रायपुर में बीते दिनों कांग्रेस पार्टी द्वारा CM House का घेराव करने की बात कही गई थी। वहीं इससे पहले लखनऊ में उग्र प्रदर्शन देखा गया था। अब छत्तीसगढ़ के ही कलेक्ट्रेट के पास सहारा एजेंटों का अनिश्चितकालीन धरना शुरू हो गया है।

प्रदर्शन करने का एजेंटों का कहना है कि सहारा इंडिया छत्तीसगढ़ के पूरे 15 हजार करोड़ का पैसा वापस नही कर रही है। सहारा इंडिया प्रदेश के 500 करोड़ ज्यादा पैसा लगभग 30,000 कस्टमर का पैसा वापस नहीं कर रही है। जिस वजह से एजेंट मरणासन्न स्थिति में जा पहुंचे हैं। आज हम पिछले 3 सालों से आज हम पिछले 3 सालों से माननीय कलेक्टर महोदय, मुख्यमंत्री के पास आवेदन निवेदन करते हुए थक गए हैं।

अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे SAHARA India के एजेंट, सुब्रतो राय सहित पदाधिकारियों की गिरफ़्तारी की मांग अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे SAHARA India के एजेंट, सुब्रतो राय सहित पदाधिकारियों की गिरफ़्तारी की मांग अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे SAHARA India के एजेंट, सुब्रतो राय सहित पदाधिकारियों की गिरफ़्तारी की मांग

Read More: संपत्ति के लालच में पोते ने 106 साल की दादी पर किया जानलेवा हमाल, पिटाई कर तोड़ दी हड्डियां

सहारा के एजेंट जिला कलेक्ट्रेट के सामने धरना प्रदर्शन पर बैठे हुए हैं। उनकी मांग है कि सुब्रत राय (Subrata Roy)  और उनके पदाधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करके उनको एफआईआर दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जाए। साथ ही एजेंटों का भुगतान किया जाए। इसके बाद ही वह अपना अनिश्चितकालीन धरना रद्द करेंगे।

इधर सहारा एजेंटों का कहना है कि सहारा के खिलाफ प्रदर्शन में आगे एक और बढ़ा प्रदर्शन किया जायेगा और सभी कार्यकारणी के लोग एजेंटो के साथ मिलकर पूरे देश में जाकर इस लड़ाई को आगे बढ़ेगी। भुगतान की मांग के लिए अब सहारा के खिलाफ लड़ाई को आगे बढ़ाने का संकल्प लेकर सभी एजेंट साथी अपने प्रदेशो में लोगों को जोड़कर सहारा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करेंगे और भुगतान की मांग करेंगे।