सिंधिया पर कांग्रेस के गंभीर आरोप, पार्टी के प्रत्याशी को हराने की साजिश करते थे

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

कांग्रेस छोड़कर भाजपा में गए ज्योतिरादित्य सिंधिया पर कांग्रेस ने बड़ा हमला किया है। पूर्व मंत्री एवं कांग्रेस विधायक लाखन सिंह ने सोमवार को आरोप लगाया कि सिंधिया ने कांग्रेस में रहते कभी कांग्रेस की चिंता नहीं की। वे चुनावों में अपनी पार्टी के प्रत्याशी को हराने की साजिश करते थे। लाखन सिंह ने कहा कि सिंधिया कभी नहीं चाहते थे कि और कोई ग्वालियर संसदीय सीट से संसद में उनके बराबर जाकर बैठे। इसीलिए उन्होंने कभी अशोक सिंह को जीतने नहीं दिया।

कांग्रेस कार्यालय पर पत्रकारों से बात करते हुए पूर्व मंत्री एवं ग्वालियर जिले की भितरवार सीट से कांग्रेस विधायक लाखन सिंह ने कहा कि सिंधिया कभी पार्टी में वफादार नहीं रहे। उन्होंने भाजपा नेता जयभान सिंह पवैया का उदाहरण देते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा राष्ट्रीय मंचों पर कहा कि सिंधिया परिवार गद्दार है, इसलिए कांग्रेस के साथ गद्दारी करके सिंधिया जी ने कोई नया काम नहीं किया अपने परिवार की परम्परा निभाई है। और मुझे लगता है कि आगे भी वो ये करते रहेंगे। जहाँ गए हैं वहाँ भी दंगा फसाद जैसी स्थिति है।

सिंधिया पर गंभीर आरोप लगाते हुए पूर्व मंत्री ने कहा कि सिंधिया ने हमेशा पार्टी प्रत्याशी को नुकसान पहुंचाया। उनके समर्थक और पूर्व ग्रामीण जिला अध्यक्ष मोहन सिंह हमेशा अनूप मिश्रा से पैक्ट करते थे। सिंधिया जी खुद पैक्ट करके चुनाव लड़ते थे। लाखन सिंह ने पास में बैठे प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रामनिवास रावत की तरफ इशारा करते हुए कहा कि इन्हें टिकट दिलवाया लेकिन और फिर इनको हराने के लिए पूरी ताकत लगाई, अशोक सिंह को कभी जीतने नहीं दिया चारों बार सिंधिया ने खुलकर अशोक सिंह का विरोध किया और चुनाव हरवाया । वे नहीं चाहते थे कि ग्वालियर संसदीय सीट से जीतकर कोई व्यक्ति संसद में उनके बराबर बैठे। लाखन सिंह ने दावा किया कि कई बार मुझसे सिंधिया जी ने कहा कि फलाने को डाउन करो मैंने कहा अच्छा प्रत्याशी रहेगा, जीत सकते हैं लेकिन उन्होंने टिकट नहीं मिलने दिया। वे कहते थे इसे मजबूत नहीं करना। पूर्व मंत्री ने कहा कि सिंधिया जी जहाँ गए हैं वहाँ उनकी चमक केवल चुनावों तक है चुनावों के बाद इनकी क्या दशा होगी ये तो उपरवाला ही जानता है।