मध्यप्रदेश के छात्रों को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग का एक और बड़ा फैसला

प्रदेश के पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों की पढ़ाई अब "स्वयंप्रभा चैनल" के माध्यम से होगी। राज्य शिक्षा केंद्र ने सभी जिला कलेक्टर्स पंचायत भवन में TV की व्यवस्था सुनि​श्चित किए जाने के निर्देश दिए है।

MP School

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (Madhyapradesh) में कक्षा 1 से 8 वीं तक के स्कूल (School) भले ही 31 दिसम्बर (December) तक बंद (School close) रहेंगे, लेकिन “स्वयंप्रभा चैनल” (Swayambha Channel) के माध्यम से छात्रों की पढ़ाई होती रहेगी। राज्य शिक्षा केंद्र ने सभी जिले के कलेक्टर्स को पत्र लिखकर पंचायत भवनों में टीवी उपलब्‍ध कराने और बच्चों की पढ़ाई के लिए व्‍यवस्‍था करने के निर्देश दिए हैं।

इस संबंध में स्कूल शिक्षा विभाग (School Education Department) ने ट्वीटर के माध्यम से जानकारी दी है, जिसमे कहा गया है कि प्रदेश के पहली से आठवीं तक के विद्यार्थियों (Student) की पढ़ाई (Study) अब “स्वयंप्रभा चैनल” के माध्यम से होगी। राज्य शिक्षा केंद्र (State Education Center) ने सभी जिला कलेक्टर्स (Collectors) पंचायत भवन में TV की व्यवस्था सुनि​श्चित किए जाने के निर्देश दिए है।इसके लिए सभी जिले के केबल ऑपरेटर्स से विभाग ने अनुबंध किया है।

दरअसल, मप्र में लगातार कोरोना संक्रमण के बढ़ते स्कूल शिक्षा विभाग ने फैसला किया है कि कक्षा 1 से 8 वीं तक के स्कूल 31 दिसम्बर तक बंद रहेंगे। इस सम्बन्ध में शनिवार देर रात आदेश जारी किये हैं, इससे पहले विभाग ने 30 नवंबर तक स्कूल बंद रखे जाने के आदेश जारी किये थे, लेकिन कोरोना की तीसरी लहर के चलते इसे आगे बढ़ाया गया है। वही इससे छात्रों की पढ़ाई पर कोई असर ना पडे इसलिए स्वयंप्रभा चैनल के माध्यम से पढ़ाई करने का फैसला लिया गया है।

बता दे कि स्वयंप्रभा चैनलों मानव संसाधन विकास मंत्रालय (Human Resource Development Ministry) द्वारा चलाए जाते है। अब तक विभाग दूरदर्शन (Doordarshan) के माध्यम से नवमी से बारहवीं तक की कक्षाओं की पढ़ाई संबंधी सामग्री, लेक्‍चर्स आदि प्रसारित करवा रहा था। अब स्वयंप्रभा चैनल के माध्यम से पहली से बारहवीं तक के बच्चे पढ़ाई कर सकेंगे।

 

3 COMMENTS

  1. I prefer online education is safe and it should be continued, even though corona is outside we r inside I think there should b no change and 10 and 12 children should b allowed to write exams

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here