Video: जब लोगों के बीच ढोल बजाकर झूमते दिखे ज्योतिरादित्य सिंधिया

scindia-vote-appeal-in-guna-shivpuri-loksabha-

भोपाल/गुना। गुना-शिवपुरी से कांग्रेस उम्मीदवार ज्योतिरादित्य सिंधिया चिलचिलाती धूप में जोर शोर से चुनाव प्रचार कर रहे हैं। प्रचार के दौरान उनके अलग अलग अंदाज भी दिख रहे हैं। शनिवार को बमोरी विधानसभा क्षेत्र में प्रचार कर रहे थे। उन्होंने ढोल के साथ लोगों के बीच जाकर चुनाव प्रचार किया साथ ही गर्मी से बचने के नुस्खे भी बताए। उन्होंने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने पांच साल में देश की जनता की आंखों में धूल झोंकने का काम किया है, लेकिन अब जनता की बारी है। उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में परंपरागत ढोल बाजाकर नृत्यकर ग्रामीणों को मोहित किया।

उन्होंने कहा कि जनता को भी मोदी सरकार को धूल चटाने का काम करना चाहिए। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि मोदी सरकार के पांच साल के कार्यकाल में किसानों से लेकर आदिवासी और हर ग्रामीण परेशान रहा है। उन्होंने आरोप लगाया कि आदिवासियों की वन अधिकार भूमि के पट्टों के मामले में केंद्र की मोदी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में वकील तक खड़ा नहीं किया। जब आदिवासियों के खिलाफ ऑर्डर पास हुआ तो कांग्रेस ने अपने स्तर से कोर्ट में वकील भेज कर आदिवासियों के हक की लड़ाई लड़ी है।

उन्होंने कहा कि किसानों से केंद्र सरकार ने वादा किया था कि खेती-किसानी की लागत कम की जाएगी और उत्पादन बढ़ाने पर ध्यान दिया जाएगा लेकिन आज किसानों को उनकी उपज का सही दाम तक नहीं मिल रहा है। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि केन्द्र में मोदी और मध्यप्रदेश में शिवराज सरकार ने किसानों को गेहूं के समर्थन मूल्य पर मिलने वाला बोनस तक बंद कर दिया, लेकिन अब प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद गेहूं पर दिए जाने वाला यह बोनस फिर से शुरू किया गया है। सिंधिया ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए अपील की कि आने वाली 12 मई को सभी लोगों को अपने घरों से निकलकर वोट डालने के लिए एक घंटे का समय देना है। इसके बाद उनकी बारी रहेगी और वह क्षेत्र में विकास के लिए सतत प्रयत्नशील रहेंगे।उन्होंने कहा कि क्षेत्र की जनता से उनके पारिवारिक रिश्ते हैं और उनका संवाद और संबंध केवल पांच साल के लिए नहीं रहता।