भोपाल और इंदौर को Scindia की दो बड़ी सौगात, होगा ये फायदा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने भोपाल और इंदौर को दो बड़ी सौगात दी है। एयर कार्गो (Air cargo) के संचालन की क्षमता को बढ़ाने के लिए हवाई मंत्रालय के द्वारा महत्वपूर्ण कार्य योजना बनाई गई है। इसके चलते अब भोपाल और इंदौर दोनों ही शहर दिसंबर 2022 तक घरेलू आवश्यकताओं की पूर्ति कर सकेंगे।

भोपाल और इंदौर के हवाई अड्डों पर घरेलू एयर कार्गो के संचालन की क्षमता को बढ़ाने के लिए नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने दो महत्वपूर्ण कार्य योजनाएं बनाई हैं। इसके अंतर्गत इंदौर एयरपोर्ट पर अंतरराष्ट्रीय और घरेलू कार्गो का वर्तमान जीर्ण शीर्ण हो चुका टर्मिनल भवन परिवर्तित कर 2000 वर्ग मीटर सेंटर फॉर पेरिसेबल कार्गो सहित 73000 मीट्रिक टन वार्षिक हैंडलिंग क्षमता का क्षेत्र बनाया जाएगा। यह सुविधा दिसंबर 2022 तक निर्मित और चालू करने का प्रस्ताव है और इसके चलते 10 से 15 सालों तक घरेलू एयर कार्गो आवश्यकताओं की पूर्ति हो जाएगी। इसके साथ ही भोपाल के हवाई अड्डे में पुरानी यात्री टर्मिनल में घरेलू हवाई कार्गो व्यवस्था 29.200 मीट्रिक टन की वार्षिक संचालन क्षमता के साथ 800 वर्ग मीटर के क्षेत्र में शुरू की जाएगी और इसे भी दिसंबर 2022 तक निर्मित और चालू करने का प्रस्ताव है। यह सुविधा भी अगले 10 15 सालों के लिए एयर डॉमेस्टिक कार्गो मूवमेंट की आवश्यकताओं को पूरा कर सकेगी। इन दोनों सुविधाओं के चलने से भोपाल और इंदौर तथा आसपास के क्षेत्रों के व्यावसायिक संस्थानों को बहुत लाभ होगा और वे अपने सामान को एयर के माध्यम से लिफ्ट करा या मंगा सकेंगे।