serious-allegation-of-women-baseball-player's-on-sports-minister-Jitu-Patwari-

भोपाल | अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्ख़ियों में रहने वाले कांग्रेस विधायक और कमलनाथ कैबिनेट में खेल एवं युवा कल्याण विभाग के मंत्री जीतू पटवारी पर अब एक नए विवाद में घिर गए हैं| छतरपुर की बेसबॉल महिला खिलाड़ी ने मंत्री पटवारी पर खिलाडियों के चयन पर पक्षपात के आरोप लगाए हैं|

दरअसल, 33 वें राष्ट्रीय सीनियर बेसबॉल प्रतियोगिता का आयोजन इंदौर में किया जा रहा है। जो 12 जनवरी से आरम्भ होकर 17 जनवरी तक चलेगा । इस चयन प्रतियोगिता में भोपाल ,रायसेन ,टीकमगढ़, ग्वालियर,उज्जैन सहित छतरपुर के खिलाड़ियों ने भी हिस्सा लिया। कार्यक्रम के मुताबिक चयनित प्रतिभागियों को 12 जनवरी तक इंदौर में अपनी उपस्थित दर्ज करानी अनिवार्य की गई थी। जिसमें छतरपुर जिले से टूर्नामेंट के लिए आकांक्षा यादव को चुना गया था, लेकिन अंतिम समय में इस नाम को हटाकर इसके स्थान पर कामनी यादव को सेलेक्ट कर दिया गया । जिससे बवाल खड़ा हो गया|

महिला खिलाड़ी का आरोप है कि टूर्नामेंट में सेटिंग के आधार पर टीकमगढ़ की महिला खिलाड़ी कामिनी यादव का सिलेक्शन किया गया है जबकि छतरपुर की महिला खिलाड़ी आकांक्षा यादव का खेल अच्छा होने के बावजूद भी सिलेक्शन नहीं किया गया| वहीं महिला खिलाड़ी के कोच का कहना है कि आखिरी वक्त तक अधिकारियों का कहना था कि आकांक्षा का सिलेक्शन किया गया है, लेकिन अचानक ही टीकमगढ़ की कामिनी यादव का सिलेक्शन हो गया और आकांक्षा को गाड़ी से उतार दिया गया। इस मामले से सम्बंधित एक ऑडियों भी सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है| इस ऑडियो में महिला खिलाड़ी के कोच और पीड़ित खिलाड़ी के भाई के बीच बातचीत हुई है जिसमे मंत्री जीतू पटवारी के लगातार फोन आने और कामिनी यादव की सिफारिश करने की बात कही गई है| वहीं बताया यह भी जा रहा है कि कामिनी पूर्व राज्यमंत्री ललिता यादव की भतीजी हैं जिनका सिलेक्शन करके नेशनल खेलने के लिए इंदौर भेजा गया|  इस संबंध में आकांक्षा का आरोप है कि उसका नाम पूर्व मंत्री ललिता यादव के कहने पर मंत्री जीतू पटवारी ने कटवा दिया है। मंत्री ने एसोसिएशन सचिव जसराज मेहता को फोन करके कामनी यादव का नाम जोड़ने के लिए निर्देश दिए। इस कारण से उसका नाम काटा गया है।