भोपाल| विधानसभा के शीतकालीन सत्र के दूसरे दिन सदन की शुरुआत हंगामेदार हुई| खाली खजाने को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और मुख्यमंत्री कमलनाथ के बीच तीखी नोंकझोंक हुई|  शिवराज सिंह ने मेघावी छात्र योजना को लेकर सरकार पर आरोप लगाया कि सरकार बीजेपी शासन काल में शुरू कि गई इस योजना को बंद कर रही है| शिवराज ने कहा बार बार खाली खजाने की बात बंद कीजिये यह कोई ओरंगजेब का खजाना नहीं जो लूटकर लाये और खाली हो गया|

प्रश्नकाल के दौरान पूर्व सीएम शिवराज ने मेधावी छात्र योजना को लेकर सरकार को घेरा| उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी शासन काल में शुरू की गई इस योजना को सरकार ख़त्म करना चाहती है| शिवराज के सवाल के जवाब में सीएम कमलनाथ ने कहा सरकार इस योजना को ख़त्म करने के बारे में नहीं सोच रही है, यह योजना चालू रहेगी, विपक्ष को पता है वित्तीय स्तिथि ठीक नहीं है| इस पर पलटवार करते हुए पूर्व सीएम शिवराज ने कहा कि रोज टैक्स का पैसा आता है, बजट भी रखा है फिर क्यों कहा जा रहा है कि खजाना खाली है| इस पर फिर सीएम ने जवाब दिया कि आपके ही पूर्व वित्तमंत्री ने माना था कि खजाना खाली है, हम पुरानी सरकार का कच्चा चिटठा बताएंगे| इस पर एक बार फिर शिवराज ने पलटवार किया| उन्होंने कहा यह कोई ओरंगजेब का खजाना नहीं जो लूटकर लाये और खाली हो गया| इसको लेकर सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच तीखी नोंक झोंक हुई| 

पूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा पहले 58 हजार छात्रों को इस योजना का लाभ मिलता था| इस बार 11 हजार को ही लाभ मिला है, यह संख्या बढ़नी थी लेकिन कम क्यों हो रही है| शिवराज ने कहा सरकार सदन में आश्वासन दे कि इस योजना का छात्रों को लाभ दिया जाएगा| इस पर वित्त मंत्री ने जवाब दिया कि हम बताएंगे कि पूर्व की सरकार ने योजना बना ली लेकिन बजट का प्रावधान नहीं किया| इस पर फिर शिवराज ने कहा हमने जितनी भी योजना बनाई सभी के लिए वित्त का प्रबंध किया था| सभी को योजना का लाभ दिया|