लॉकडाउन में जनता की सुविधा के लिए शिवराज ने दिए निर्देश

shivraj-singh-said-committee-will-be-formed-in-every-neighborhood-to-save-daughters

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के देशव्यापी 21 दिन के लाक डाउन की घोषणा के बाद मध्य प्रदेश की सरकार ने बड़े कदम उठाए हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आम जनता से अपील की है कि वह लॉकडाउन का पूरी तरह पालन करें, सरकार उनके लिए सारे प्रबंध कर रही है।

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सभी कलेक्टरों को यह निर्देश दिए गए हैं कि वे अत्यावश्यक सेवाओं की पूर्ति में कोई कसर न छोड़ें। मुख्यमंत्री खुद सारे कलेक्टरों से इस बारे में चर्चा कर रहे हैं और आवश्यक निर्देश दे रहे हैं। दरअसल 21 दिन के लॉकडाउन के बाद से आम जनता में रोजमर्रा की चीजों की आपूर्ति को लेकर संशय की स्थिति पैदा हो रही थी जिसके चलते गृह मंत्रालय ने भी एक गाइडलाइन जारी की है और उसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनता को आश्वस्त किया है कि वह किसी भी रूप में किसी को परेशानी नहीं आने देंगे।

क्या है गृह मंत्रालय की एडवाइज़री
लॉकडाउन में क्या चालू क्या बंद जानिये

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिन के लॉक डाउन की घोषणा के बाद अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नई गाइडलाइन जारी की है। जिसके अंतर्गत अत्यावश्यक सेवाओ पुलिस, पेट्रोल पंप, बैंक, एटीएम, इंश्योरेंस सर्विस, दवा ,बिजली, मीट मछली की दुकान , सब्जी गायों के लिए चारा, दूध राशन की दुकानें खुली रहेंगी। स्थानीय प्रशासन से यह अपेक्षा की जाएगी कि वह लोगों को होम डिलीवरी की सुविधा उत्पन्न कराएं। लेकिन सभी सरकारी और प्राइवेट दफ्तरों को बंद कर दिया गया है। प्रिंट व इलेक्ट्रॉनिक मीडिया इससे से मुक्त है ।सभी धार्मिक स्थल पूर्णत बंद रहेंगे। सामाजिक, राजनीतिक, खेल से जुड़े हुए, पढ़ाई लिखाई से जुड़े कोई भी लोग एक जगह पर एकत्रित नहीं होंगे ।अंतिम संस्कार में भी 30 से ज्यादा लोग उपस्थित नहीं हो सकेंगे। 15 फरवरी के बाद भारत पहुंचे हर व्यक्ति को होम कोरोन्टाइन रहना होगा नहीं तो उसके खिलाफ धारा 188 के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। आईटी जैसी चीजों से जुड़े हुए व्यक्तियों से कहा गया है कि वे वर्क फ्रॉम होम करें ।सभी उद्योगों को बंद कर दिया गया है सिवाय उनके जहां अत्यावश्यक सेवाओं का उत्पादन होता है।