सीएम शिवराज

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कोरोना काल (corona era) में पत्रकारों (journalists) की स्थिति को बल देने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (shivraj singh chauhan) लगातार पत्रकारों को आर्थिक सहायता दे रहे है। संकट काल में मध्यप्रदेश (madhya pradesh) का जनसंपर्क पत्रकारों की मदद के लिए तेजी से आगे आ रहा है। वहीं सीएम शिवराज (CM Shivraj) द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन किया जा रहा है। अब तक कई कोरोना की चपेट में आए हुए पत्रकारों के परिजन को सहायता दी जा चुकी है।

इसी बीच जनसंपर्क विभाग द्वारा आज पत्रकारों को करीब 42 लाख 85 हजार की आर्थिक सहायता स्वीकृत की गई है।इनमें से 10 पत्रकारों की मृत्यु पर उनकी पत्नी को 4- 4 लाख स्वीकृत किए गए हैं। शेष 8 पत्रकारों को कोरोना एवं अन्य बीमारियों के इलाज के लिए 2 लाख 85 हजार रुपए स्वीकृत किए गए हैं। इसके पूर्व मई माह में ही 10 पत्रकारों की मृत्यु पर उनकी पत्नी को चार-चार लाख की आर्थिक सहायता स्वीकृत की जा चुकी है।

Read More: पॉजिटिविटी रेट में गिरावट, 24 घंटे में मिले 5412 पॉजिटिव, कोरोना कर्फ्यू से मिल सकती है राहत!

आज स्वीकृत प्रकरण में शीला वर्मा पत्नी स्वर्गीय प्रेम प्रकाश वर्मा राजगढ़ शकीला, पत्नी स्वर्गीय मुस्लिम शेख धार, रेखा वर्मा पत्नी स्वर्गीय राजेंद्र वर्मा धार, हेमलता चंदेल पत्नी सुरेंद्र सिंह चंदेल इंदौर, सीमा सुधीर पत्नी श्री श्री महंत सुधीर इंदौर, उषा मिश्रा पत्नी स्वर्गीय गोवर्धन मिश्रा इंदौर, किरण कुमारी पत्नी स्वर्गीय रजनीश यादव भोपाल, शिल्पी अवस्थी पत्नी स्वर्गीय मनोज अवस्थी होशंगाबाद, मीना भाटी पत्नी स्वर्गीय महेंद्र गगन और कृष्णा राठौर पत्नी स्वर्गीय राधेश्याम राठौर को चार-चार लाख स्वीकृत किए गए हैं।

इसी तरह फोटोग्राफरयोगेंद्र दत्त शर्मा भोपाल को 50,000, सुधीर निगम पत्रकार भोपाल को 40000, राजेश सिंह ठाकुर भोपाल को 50 हजार, किशोर करैया होशंगाबाद को 50 हजार, अंकित जैन भोपाल को 20,000, आरके श्रीवास्तव सिंगरौली को 40000, अंजली मिश्रा भोपाल को 20,000 और लता मालवीय भोपाल को 15000 की आर्थिक सहायता बीमारी के इलाज के लिए स्वीकृत की गई है।

बता दें कि यह राशि उस योजना के अलावा है जो जनसंपर्क पत्रकार बीमा योजना के अंतर्गत अधिमान्यता व गैर अधिमान्यता प्राप्त पत्रकारों को निशुल्क इलाज की पात्रता प्रदान करती है। जनसंपर्क संचालक आशुतोष प्रताप सिंह लगातार इस पूरे मामले पर नजर रखे हुए हैं और वे पत्रकारों के इलाज से लेकर उनके और उनके परिवारों के वैक्सीनेशन तक के कार्य को संपन्न करा रहे हैं। अब तक कई पत्रकार व उनके परिवार परिवारों के इलाज के लिए अस्पतालों में बेड मुहैया कराने से लेकर अत्यावश्यक दवाइयों व रेमिडिसिविर इंजेक्शनो की व्यवस्था उनके द्वारा की गई है।