Shivraj-opposed-to-stop-tribals

भोपाल।  आदिवासियों को कार्यक्रम में आने से रोकने पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इतना नाराज़ हो गए कि उन्होंने फ़ोन पर पुलिस वालों को फटकार लगा दी और कहा कि आने दो नही तो वल्लभ भवन घेर लूंगा।  इसके बाद वे खुद ही आदिवासियों को लेने भदभदा पहुंच गए और और आदिवासियों के साथ ट्रैक्टर में बैठ भोपाल के लिए निकले । इस दौरान पैदल चलते हुए आदिवासी सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए नजर आए।

दरअसल, वन अधिकारों को लेकर आदिवासियों का आज न्यू मार्केट में धरना प्रदर्शन होना है। इसके लिए मंगलवार को प्रशासन ने भी अनुमति दे दी है। इसी धरना प्रदर्शन में शामिल होने जब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की विधानसभा क्षेत्र बुदनी से आदिवासी टैक्टर ट्राली में बैठकर भदभदा पहुंचे तो प्रशासन ने उन्हें रोक दिया और यहीं से पैदल जाने को कहा। जब इस बात की खबर जब पूर्व सीएम शिवराज सिंह को मिली तो वह भड़क गए और पुलिस को फोन लगाकर कहा कि अगर प्रदेश में शांति चाहते हो तो उन्हें मत रोको। नही तो वल्लभ भवन घेर लूंगा। शिवराज ने नाराजगी जताते हुए अधिकारियों को चेताया भी। इसके बाद वह खुद ही भदभदा पहुंचे और आदिवासियों के साथ ट्रैक्टर में सवार हो गए और उनके साथ कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे|

इस दौरान मीडिया से बात करते हुए शिवराज ने कहा आदिवासी भाइयों-बहनों को उनकी मांग रखने और शांतिपूर्ण ढंग से प्रदर्शन करने से जिस तरह कमलनाथ सरकार व स्थानीय प्रशासन ने रोकने का प्रयास किया है, वह पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है, संवैधानिक अधिकारों का हनन है। मैं यह होने नहीं दूंगा। मैं उन्हें साथ लेकर धरना स्थल तक जा रहा हूं।