cm shivraj

इंदौर, आकाश धोलपुरे। सांवेर उपचुनाव को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं की बड़ी बैठक रखी गई। इस दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj singh chauhan) ने सांवेर विधानसभा के भाजपा कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करते हुए जीत का मंत्र दिया।

मध्यप्रदेश में 28 सीटों पर अगले महीने उपचुनाव होना है, प्रदेश की सबसे हॉट सीट मानी जा रही सांवेर (sanwer) में कमल खिलाने के लिए भाजपा पूरी जान लगा रही है। लेकिन बीजेपी के कई कार्यकर्ता बदले सियासी समीकरण में कांग्रेस से बीजेपी में आए तुलसी सिलावट (tulsi silawat) के लिए एकजुट नही हो रहे हैं। ऐसे में खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को भाजपा कार्यकर्ताओं को मनाने के लिए इंदौर आना पड़ा। बायपास स्थित एक गार्डन में भाजपाइयों की मेगा बैठक आहुत की गई जिसमें सांवेर विधानसभा के एक एक बूथ के कार्यकर्ता मौजूद रहे।

इस दौरान मंत्री तुलसी सिलावट ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि परिवर्तन प्रकृति के नियम है। ये चुनाव मध्यप्रदेश के विकास और प्रगति का है। पिछली सरकार ने किसानों के साथ छल कपट किया था, उसका बदला लेने का समय है। ये चुनाव तुलसी सिलावट का नहीं है, ये चुनाव मुख्यमंत्री का है। ये चुनाव शिवराज को स्थायी मुख्यमंत्री बनाने का है। देश में अगर भाजपा की सरकार नहीं होती, नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री नहीं होते तो राम मंदिर नही बनता। मंत्री तुलसी सिलावट ने भाजपाइयों और सीएम शिवराज को भरोसा दिलाते हुए कहा कि जब तक तुलसी सिलावट के शरीर में खून है, तब तक तुलसी सिलावट भाजपा की शरण में है, भाजपा मेरी माँ है।

वहीं पूर्व लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि मैं भाजपा कार्यकर्ताओं को देखने आई हूं और फिर दौरा करने भी आऊंगी। उन्होंने इंदौर संभाग में भाजपा की हार याद दिलाते हुए कार्यकर्ताओं को नसीहत दी ।उन्होंने कहा कि चुनाव में एक एक सीट महत्वपूर्ण होती है। ताई ने भाजपा कार्यकर्ताओं को संकल्प दिलाते हुए कहा कि कुछ भी हो जाए हम सांवेर सीट जिताएंगे। इस मौके पर पंडितों ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ बूथ लेवल,वार्ड प्रभारियों, मंडलो और हजारों कार्यकर्ताओं को सुपारी हाथ में देकर जीत का संकल्प दिलाया।

वहीं सीएम शिवराज ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि तुलसी सिलावट दूध में शक्कर की तरह मिलकर भाजपा के साथ समरस हो गए हैं। कांग्रेस सरकार ने सत्ता के नशे में चूर होकर भाजपा कार्यकर्ताओं को कुचलने की कोशिश की। लेकिन भाजपा के कार्यकर्ता ऐसे हैं कि अगर ठान ले तो कुछ भी असंभव नही है। वहीं सीएम शिवराज सिंह ने कर्जमाफी  को लेकर कमलनाथ पर निशाना भी साधा। उन्होंने कहा की कमलनाथ ने कर्जमाफी के झूठे सर्टिफिकेट बंटवाए और बैंकों में पैसे मैंने भरे। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कांग्रेस गद्दारी का आरोप लगाती है, दिग्विजय कमलनाथ ने वल्लभ भवन को दलालों का अड्डा बना दिया था इसलिए सिंधिया ने कमलनाथ को सड़क पर ला दिया। हमने सरकार गिराने का नही सोचा, ये फैसला सिंधिया और तुलसी सिलावट ने किया। शिवराज ने कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा हमारी माँ है और इसके दूध की लाज रखना है। ये चुनाव तुलसी सिलावट नहीं, कमल के फूल का है। चुनावी सभा में सीएम शिवराज सिंह चौहान सहित सभी नेताओ ने कार्यकर्ताओं में जमकर जोश और उत्साह भरने की कोशिश की ताकि बीजेपी और सिंधिया के लिए नाक का सवाल बन चुकी सांवेर सीट को किसी भी कीमत में जीता जा सके।