धरने पर बैठे शिवराज, गैंगरेप-हत्या के आरोपियों को सजा देने की मांग

भोपाल| राजधानी भोपाल के मनुआभान टेकरी क्षेत्र में आठ माह पहले 12 साल की मासूम बच्ची की दुष्कर्म के बाद पत्थरों से कुचलकर हत्या के आरोपियों को सजा दिलाने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान धरने पर बैठ गए हैं| रोशनपुरा चौराहे पर बच्ची के परिजनों सहित बड़ी संख्या में लोग धरने पर बैठे हैं| एक दिन पहले शिवराज ने ट्वीट कर धरने का एलान किया था और भोपाल की बेटी के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए किये जा रहे धरने में शामिल होने की लोगों से अपील की थी| 

पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि ऐसे हैवानों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाए। दुष्टता का बर्ताव करने वाले लोगों को जिंदा रहने का हक नहीं है। आखिर कब तक बेटियों को दरिंदगी का शिकार होना पड़ेगा। चौहान ने कोर्ट से भी निवेदन किया है कि दुष्कर्म के मामलों में त्वरित और कठोर सजा दी जाए।

शिवराज के धरने पर कांग्रेस ने साधा निशाना 

बेटी बचाओ अभियान समिति द्वारा यह धरना आयोजित किया गया है। इस मामले में कांग्रेस नेताओं का कहना है कि जिनके शासनकाल में प्रदेश महिलाओं पर अपराध के मामले में देश में सबसे ऊपर था, वो ही आज महिलाओं की सुरक्षा के लिए धरना दे रहे हैं। धरना स्थल पर भाजपा नेताओं और स्थानीय लोगों का पहुंचना जारी है। मंत्री पीसी शर्मा ने शिवराज के धरने पर कहा सौ सौ चूहे खाकर बिल्ली हज को चली, मनुआभान टेकरी के आरोपी को हमारी सरकार ने जल्द से पकड़ लिया था| अगर धरना देना है तो दिल्ली में जाकर धरना दे..उन्हीं के समय केंद्र ने रिपोर्ट जारी की थी, कि मध्यप्रदेश महिला अपराध में नंबर थे| 

धरने पर बैठे शिवराज, गैंगरेप-हत्या के आरोपियों को सजा देने की मांग