ग्वालियर।अतुल सक्सेना।

प्रदेश की राजनीति में मची उथल पुथल के बीच कांग्रेस छोड़कर दो और कांग्रेस विधायकों के भाजपा में आने से भाजपा खेमा खुश है उधर कांग्रेस नेतृत्व ये समझ नहीं पा रहा है कि आखिर ये हो क्या रहा है? इस बीच प्रदेश के सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया का बड़ा बयान सामने आया है। उनका कहना है कि अभी कांग्रेस के 24 विधायक भाजपा में आये हैं, अभी और संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता।

ग्वालियर में चुनिंदा मीडिया से बात करते हैं भदौरिया ने कहा कि हमारी प्राथमिकता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के सपनों का प्रदेश फिर से बनाना है क्योंकि हमारी पार्टी की सरकार में प्रदेश में जो सुंदर वन उपवन खड़ा हुआ था उसमें 15 महीने की कांग्रेस सरकार ने खर पतवार उगा दी थी। कांग्रेस की सरकार में भृष्टाचार की पराकाष्ठा थी, ट्रांसफर उद्योग का बोलबाला था। सब मिलकर विभागों को चूस रहे थे, कुछ मंत्री बदतमीजी से बात करने लगे थे। तो सबसे पहले 15 महीने की कांग्रेस सरकार में हुई गड़बड़ियों को सुधारना है। उन्होंने कहा कि मुझे मेरे विभाग में पारदर्शिता लाना है ऐसी मेरी दृढ़ इच्छा शक्ति है । उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि यदि मुझे मेरे विभाग में एक भी आदमी गड़बड़ी करते मिला तो ये अरविंद भदौरिया उसे छोड़ने वाला नहीं हैं।

कांग्रेस विधायकों के भाजपा में आने के सवाल पर सहकारिता मंत्री अरविंद भदौरिया ने कहा कि 15 महीने कि सरकार मे सब परेशान थे। किसी के काम नहीं होते थे। उन्होंने कैबिनेट मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर का नाम लेकर कहा कि वे खुद ग्वालियर में नालों में उतरकर अपने हाथ से सफाई करते थे। इसलिए कांग्रेस में परेशान रहे विधायकों को लग रहा है कि शिवराज सिंह के नेतृत्व में ही विकास संभव है तो वे भाजपा में आ रहे हैं। उन्होंने दावा किया कि अभी 24 कांग्रेस विधायक आये हैं अभी और संभावनाओं को नकारा नहीं जा सकता।