सागर में दलित युवती की संदिग्ध मौत के बाद जीतू पटवारी पीड़ित परिवार से मिले, राहुल गांधी ने फोन पर की बात, मदद का भरोसा दिया

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने मृतका के भाई की बात राहुल गांधी से कराई। इसी के साथ उन्होने सीएम मोहन यादव और प्रदेश सरकार से मामले की सीबीआई जाँच की माँग भी की। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उनकी बात नहीं सुनती है तो वो अदालत जाकर CBI जाँच की माँग करेंगे। जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस पीड़ित परिवार के साथ खड़ी है और उन्हें इंसाफ़ दिलाने में वो कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

Sagar

Rahul Gandhi assures help to Dalit family of Sagar : सागर जिले की खुरई विधानसभा के बरोदिया नोनागिर गांव में एक दलित युवती की संदिग्ध हालात में और उसके चाचा की पिटाई के बाद हुई मौत की घटना अब सुर्खियों में है। आज कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने गाँव पहुँचकर पीड़ित परिवार से मुलाक़ात की। इसी के साथ फ़ोन पर राहुल गांधी से मृतका के भाई की बात भी कराई। राहुल ने उन्होंने आश्वासन दिया कि वो पीड़ित परिवार की हरसंभव मदद करेंगे। वहीं जीतू पटवारी ने मुख्यमंत्री से मामले की सीबीआई जाँच की माँग की। उन्होंने कहा कि वो सरकार से लिखित रूप में भी इसकी माँग करेंगे और अगर ऐसा न हुआ तो वो अदालत जाकर मामले की सीबीआई जाँच की माँग करेंगे। इसी के जीतू पटवारी ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी की ओर से दोनों पीड़ित परिवारों के लिए एक-एक लाख रुपए की मदद करने की बात भी कही।

ये है मामला

अहिरवार परिवार में दर्दनाक घटनाओं का सिलसिला शुरु हुआ पिछले साल अगस्त में जब नितिन अहिरवार की पीट पीटकर हत्या कर दी गई थी। उसकी बहन अंजना अहिरवार से छेड़छाड़ का विरोध करने पर नितिन के साथ मारपीट की गई और उसकी हत्या कर दी गई। उस समय दिग्विजय सिंह ने परिवार से मुलाक़ात की थी और धरने पर बैठ गए थे। उन्होंने कहा था कि जब तक प्रशासन आरोपियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई नहीं करेगा, वो वहाँ से हिलेंगे भी नहीं। इसके बाद दबाव पड़ने पर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया और मामला अभी कोर्ट में है।लेकिन अब फिर इस परिवार में दो लोगों की मौत हो गई है और कांग्रेस इसे लेकर सरकार पर सवालिया निशान लगा रही है। शनिवार रात को कुछ लोगों ने अंजना के चाचा राजेंद्र अहिरवार (24) को पीट पीटकर बुरी तरह घायल कर दिया। उसे इलाज के लिए भोपाल लाया जा रहा था लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। इसके बाद अंजना अहिरवार अपने चाचा का शव लेकर लौट रही थी और रास्ते में एंबुलेंस से गिरकर उसकी भी संदिग्ध हालात में मौत हो गई।

राहुल गांधी ने फोन पर दिया मदद का आश्वासन

इस घटना के बाद आज जीतू पटवारी, मुकेश नायक, पीसी शर्मा, प्रभु सिंह, अवनीश भार्गव सहित कई कांग्रेसी नेता पीड़ित परिवार से मिलने उनके घर पहुँचे। इस दौरान जीतू पटवारी ने फ़ोन पर राहुल गांधी से मृतका के भाई की बात कराई। फ़ोन पर पीड़िता के भाई ने कहा कि ‘मेरे भाई की हत्या हो गई थी! गवाहों पर दबाव बनाया जा रहा था! अब मेरी बहन की भी हत्या हो गई है! तीन आरोपियों के नाम रिपोर्ट में ही नहीं है! प्रशासन हम पर ही दबाव बना रहा है’। ये सुनकर राहुल गांधी ने कहा कि ‘आप घबराइए मत..हम आपके साथ खड़े हैं’। उन्होंने युवक को हरसंभव मदद का भरोसा दिलाया।

जीतू पटवारी ने की CBI जाँच की माँग 

परिवार से मिलने के बाद जीतू पटवारी ने कहा कि किस्से-कहानियों का जंगलराज में हकीकत बन चुका है। एक दलित परिवार को सोची-समझी साजिश के तहत तबाह कर दिया गया। कई हत्याएं हो गईं, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में दलितों, आदिवासियों के साथ लगातार अत्याचार उत्पीड़न की घटनाएँ बढ़ रही हैं। फ़िल्मों में जिस तरह का अत्याचार इस वर्ग पर दिखाया जाता रहा है, उससे ज्यादा भयावह स्थिति प्रदेश में है। उन्होंने सीएम मोहन यादव और पीएम मोदी से इस घटना पर सज्ञान लेने का अनुरोध किया। जीतू पटवारी ने कहा कि कांग्रेस पीड़ित परिवार के साथ है। अगर सरकार इनकी बात नहीं सुनेगी तो हम न्यायालय के माध्यम से सीबीआई जांच के लिए लड़ाई लड़ेंगे।


About Author
श्रुति कुशवाहा

श्रुति कुशवाहा

2001 में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से पत्रकारिता में स्नातकोत्तर (M.J, Masters of Journalism)। 2001 से 2013 तक ईटीवी हैदराबाद, सहारा न्यूज दिल्ली-भोपाल, लाइव इंडिया मुंबई में कार्य अनुभव। साहित्य पठन-पाठन में विशेष रूचि।