स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक आज, बची 20 सीटों पर होगा मंथन, इन नामों पर लग सकती है मुहर

the-congress-screening-committee-meeting-20-seats-will-be-considered-in-lok-sabha-elections-2019

भोपाल।

लोकसभा चुनाव में विन 29  का मिशन लेकर चल रही कांग्रेस अबतक केवल 9 प्रत्याशियों के नाम ही फायनल कर पाई है। बाकी 20  नामों पर अब भी मंथन चल रहा है। इसी के चलते आज दिल्ली में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक बुलाई गई है, जिसमें बाकी सीटों को लेकर चर्चा की जाएगी। इसके बाद दो अप्रैल को केंद्रीय चुनाव समिति के पास मप्र के लोकसभा प्रत्याशियों के नाम पहुंच जाएंगे और लिस्ट जारी कर दी जाएगी।  सूत्रों के मुताबिक स्क्रीनिंग कमेटी आज सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया व पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह की सीट और राज्यसभा सदस्य विवेक तन्खा के टिकट पर फैसला लेगी।इसी तरह छिंदवाड़ा लोकसभा क्षेत्र से नकुलनाथ का नाम तय किया जाएगा।

खबर है कि सीधी, जबलपुर, मंडला और छिंदवाड़ा पर आज मुहर लग सकती है, जिसमें छिंदवाड़ा से नकुलनाथ , सीधी से अजय सिंह और जबलपुर से विवेक तन्खा का नाम शामिल है, क्योंकि 29 अप्रैल को यहां चुनाव होना है। इसके लिए मंगलवार से नामांकन प्रक्रिया शुरू होगी, जो 9 अप्रैल तक चलेगी। इसलिए इन्हीं सीटों पर कमेटी पहले नाम फाइनल करेगी। बैठक में मुख्यमंत्री कमलनाथ भी शामिल होंगे। जबलपुर से विवेक तन्खा, छिंदवाड़ा से नकुलनाथ और सीधी से अजय सिंह के नाम फाइनल होेने की संभावना है। मंडला सीट के पैनल में चार नाम हैं। इनमें कमल सिंह मरावी, गुलाब सिंह उइके, भूपेंद्र बरकड़े और रामकृपाल मरकाम में से प्रत्याशी तय होना है। मंगलवार को कांग्रेस की केंद्रीय चुनाव समिति (सीईसी) की बैठक होगी।  इसमें 29 अप्रैल को होने वाले मतदान की सीटें शहडोल और बालाघाट शामिल हैं। 

इन सीटों पर होना है चर्चा

वही कमलनाथ छिंदवाड़ा सीट से विधानसभा का उपचुनाव लड़ रहे हैं, जहां 29 अप्रैल को वोटिंग होना है। इसलिए नाथ का नाम भी सीईसी से फाइनल हो जाएगा। यहां 2 से 9 अप्रैल तक नामांकन भरा जाना है।प्रदेश में 29 लोकसभा सीटों में से कांग्रेस ने अभी नौ सीटों पर प्रत्याशियों का एलान किया है, जिनमें एक टीकमगढ़ अनुसूचित जाति और तीन रतलाम, शहडोल व बैतूल अनुसूचित जनजाति सीटों के प्रत्याशी शामिल हैं।शेष 20 सीटों पर दिल्ली में एक अप्रैल को स्क्रीनिंग कमेटी में चर्चा होगी, जिनमें छिंदवाड़ा, गुना, राजगढ़, इंदौर, ग्वालियर और जबलपुर सहित भिंड, देवास और उज्जैन अनुसूचित जाति व मंडला, खरगोन और धार अनुसूचित जनजाति सीटें भी शामिल हैं।  खंडवा सीट से प्रदेश कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अरुण यादव को प्रत्याशी बनाए जाने पर भी फैसला लेकर सूची केंद्रीय चुनाव समिति को भेजी जाएगी।

इन सीटों पर पुनर्विचार कर सकती है कमेटी

स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक में होशंगाबाद और टीकमगढ़ से कांग्रेस पार्टी प्रत्याशियों पर पुनर्विचार कर सकती है। दोनों सीटों पर घोषित किए गए प्रत्याशियों को पार्टी कमजोर मानकर चल रही है। इससे दोबारा इन सीटों पर नए उम्मीदवारों के नाम पर चर्चा की जा सकती है। होशंगाबाद से शैलेंद्र दीवान को प्रत्याशी घोषित किया गया है, जो तेंदूखेड़ा से हैं और उनका संसदीय सीट पर लोगों के बीच संपर्क नहीं है। इस वजह से इस सीट से पूर्व में दो बार सांसद रहे रामेश्वर नीखरा या फिर सुरेश पचौरी को प्रत्याशी बनाए जाने पर विचार किया जा सकता है। इसके अलावा टीकमगढ़ सीट से पार्टी ने किरण अहिरवार को प्रत्याशी घोषित किया है, उन्हें भी इस सीट से कमजोर उम्मीदवार घोषित किया है। पार्टी यहां से भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र खटीक के सामने किसी बड़े चेहरे को मैदान में उतार सकती है।