ऑटो चालक से मारपीट करने वाला मुख्य आरोपी गिरफ्तार, पुलिस ने निकाला जुलूस

ऐशोआराम की जिंदगी गुजारता था आरोपी अभिषेक गुड़ी

जबलपुर, संदीप कुमार। दिनदहाडे बर्बरता पूर्वक गुण्डागर्दी कर एक्सीडेंट की घटना को लेकर ऑटो चालक के साथ मारपीट करने वाला मुख्य आरोपी अभिषेक दुबे उर्फ गुड़ी गिरफ्तार कर लिया गया है। आधारताल निवासी मुख्य आरोपी अभिषेक दुबे उर्फ गुड़ी (उम्र 40)  पर अपराध हत्या, हत्या का प्रयास, अवैध वसूली, आर्मस एक्ट, अवैध रूप से शराब बिकवाने तथा जुआ एवं सट्टा खिलवाने, मारपीट आदि के 14 अपराध पंजीबद्ध होकर न्यायालय में विचाराधीन हैं।

बता दें कि 11 अक्टूबर को एक्टिवा पर सवार दो बहनों को शोभापुर ब्रिज के पास ऑटो चालक अजीत विश्वकर्मा द्वारा लापरवाही पूर्वक टक्कर मार दी गई थी। इस घटना में एक्टिवा पर सवार दोनों बहनें गिर पड़ी और छोटी बहन को चोट आ गई। इस पर बड़ी बहन द्वारा ऑटो चालक के द्वारा लापरवाही पूर्वक चलाते हुए टक्कर मारने की रिपोर्ट करने पर थाना आधारताल में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

वहीं दूसरी ओर ऑटो चालक अजीत विश्वकर्मा ने खुद के साथ हुई मारपीट के सम्बंध में परिजनों के साथ थाना आधारताल में रिपोर्ट दर्ज करायी कि उसके आटो से एक्सीडेंट हो जाने पर लड़कियां घायल हो गई थीं जिसके बाद चंदन सिंह, अभिषेक उर्फ गुडी, मनोज दुबे तथा अक्षय शिवहरे के द्वारा गाली गलौज कर उसे जान से मारने की धमकी देते हुए बेरहमी से मारपीट की गई है। इसी बीच घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो जाने के बाद आरोपी अपने घर से फरार हो गए।

ये था मामला

इस घटना की जानकारी लगते ही पुलिस अधीक्षक जबलपुर सिद्धार्थ बहुुगुणा द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु निर्देशित किया गया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अगम जैन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गोपाल खाण्डेल के नेतृत्व में टीम गठित की जाकर आरोपी चंदन सिंह एवं अभिषेक दुबे तथा अन्य साथियो की तलाश करते हुये चंदन सिंह तथा अभिषेक दुबे के दो अन्य साथी अक्षय शिवहरे, निवासी सुहागी एवं मनोज दुबे निवासी लालमाटी को गिरफ्तार किया गया जबकि मुख्य आरोपी फरार थे। प्रकरण के मुख्य आरोपी अभिषेक दुबे उर्फ गुड़ी एवं चंदन सिंह अपने घरों पर नहीं मिले जिनकी तलाश के दौरान सभी संभावित स्थानों पर दबिश दी गई। इन दोनों आरोपियों पर 10 हजार का ईनाम भी घोषित था।

मुखबिरों से मिल रही सूचना एवं तकनीकी सहायता के आधार पर पुलिस ने आरोपियों का पीछा किया गया एवं घेराबंदी कर गाजियाबाद के पास एक लाल रंग की स्विफ्ट कार जिसमें अभिषेक उर्फ गुडी बैठा था, जो नेपाल बार्डर क्रॉस करने की तैयारी में था, उसे पकड़ लिया गया। आरोपी को हिरासत में लेते हुए थाना आधारताल लाया गया है। उसके खिलाफ NSA में अपराध निरुद्ध किया गया  है।

ऐसा जलवा था गुड़ी महाराज उर्फ अभिषेक का

ऑटो चालक अजीत विश्वकर्मा की बेरहमी से पिटाई करने वाले अभिषेक दुबे उर्फ गुड़ी महाराज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन पुलिस अभी भी उसकी वास्तविक जिंदगी नहीं जान पाई है। अभिषेक दुबे उर्फ गुड़ी महाराज की शानो शौकत के बारे में बताया जाता है कि उसके पास रुपए पैसों की कहीं से भी कमी नहीं थी। लोगों को धमकी देना, अवैध वसूली करना गुड़ी महाराज का मुख्य काम था। यही कारण है कि अपराध से जुड़े रहने के चलते बहुत कम समय में ही अभिषेक दुबे ने लाखों रुपए कमा लिया थे। ऑटो चालक के साथ बेरहमी से मारपीट करने के मामले में जबलपुर पुलिस ने आरोपी को गाजियाबाद से गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि आरोपी अभिषेक दुबे नेपाल भागने की फिराक में था पर उससे पहले यह जबलपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया।

अभिषेक दुबे के गिरफ्तार होने के बाद उसके ऐसो आराम की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं। बताया ये भी जाता है कि उसका कई राजनीतिक लोगों से भी अच्छा खासा परिचय है। फिलहाल अब गुड़ी महाराज पुलिस गिरफ्त में है और उससे यह पूछताछ की जा रही है कि उसका एक और साथी चंदन अभी कहां है। इसके साथ ही पुलिस ने एनएसए की कार्यवाही भी उस पर की गई है। अभिषेक दुबे को गिरफ्तार करने के बाद जबलपुर पुलिस ने अधारताल चौराहे में उसका जुलूस निकाला।आरोपी को देखकर लोग भी कह उठे थे कि आखिर आतंकी का हाल बुरा ही होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here