सिंधिया पर पार्टी ने फिर जताया भरोसा, सौंपी यह बड़ी जिम्मेदारी

भोपाल।

भले ही कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया के पास फिलहाल कोई बड़ा पद नही है, लेकिन पार्टी का उनपर भरोसा अब भी कायम है। महाराष्ट्र और हरियाणा चुनाव में बेहतर प्रदर्शन के बाद एक बार फिर झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी ने सिंधिया पर भरोसा जताया और वहां की जिम्मेदारी सौंपी है। खास बात ये है कि इसमें बीते दिनों अपने बयानों से विवादों में रहे कमलनाथ के मंत्री उमंग सिंघार को भी शामिल किया गया है।

दरअसल, झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने स्टार प्रचारकों का ऐलान कर दिया है। इस लिस्ट मेंपूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा मध्यप्रदेश के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को भी स्टार प्रचारक बनाया गया है। इसके पहले सिंधिया को हरियाणा और महाराष्ट्र की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। साथ ही मप्र विधानसभा और लोकसभा में भी सिंधिया की भूमिका अहम रही। वही कमलनाथ सरकार में वनमंत्री उमंग सिंघार को भी स्टार प्रचारक बनाया गया है। सिंघार वही है जो बीते दिनों अपने बयानों से सुर्खियों में आए थे। उनके दिग्विजय के खिलाफ  एक के बाद एक गंभीर आरोपों के बाद जमकर सियासत गर्मा गई थी।

प्रियंका दिग्गी और नाथ लिस्ट से बाहर

हैरान करने वाली बात ये है कि इसमें मध्यप्रदेश के सीएम कमल नाथ को दर किनार कर दिया गया है, जबकि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल को झारखंड चुनाव के लिए मौका दिया गया है । वही कांग्रेस के चाणक्य कहे जाने वाले दिग्विजय सिंह को भी इस लिस्ट में जगह नहीं दी गई है।इधर, इसमें पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी का भी नाम नहीं है। हालांकि प्रचारकों की ये पहली सूची है। स्टार प्रचारकों की चार लिस्ट आगे भी आएगी।माना जा रहा उसमें प्रियंका गांधी का नाम हो सकता है। 

इन नेताओं को भी मिली जगह

कांग्रेस की स्‍टार प्रचारकों की लिस्‍ट में अधीर रंजन चौधरी, गुलाम नबी आजाद, भूपेश बघेल, अशोक गहलोत, रणदीप सिंह सुरजेवाला, ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया, मुकुल वासनिक, आरपीएन सिंह, उमंग सिंघार, जितिन प्रसाद और तारिक अनवर के नाम भी शामिल हैं। झारखंड के नेताओं में सुबोधकांत सहाय, रामेश्‍वर उरांव, राजेश ठाकुर, आलोक दुबे, आलमगीर आलम स्‍टार प्रचारकों में शुमार हैं।

सिंधिया पर पार्टी ने फिर जताया भरोसा, सौंपी यह बड़ी जिम्मेदारी