गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का बयान- होमगार्ड जवानों की मांगों के प्रति सरकार गंभीर

मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में होमगार्ड्स के जवानों की सेवा शर्तों से जुड़े मुद्दे पर आज रविवार (Sunday) को गृह विभाग के वरिष्ठ अफसरों के साथ चर्चा करूंगा। इस विषय के समाधान में गृह विभाग (Home Department) के अलावा वित्त विभाग (Finance department) की भी अहम भूमिका है।

narottam Mishra

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। होमगार्ड सैनिकों (Home Guard Soldiers) की मांगो को लेकर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Narottam Mishra) का बड़ा बयान सामने आया है। नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि होमगार्ड्स के जवानों की मांगों को लेकर सरकार गंभीर है। सेवा शर्तों के मुद्दे पर आज अधिकारियों से चर्चा करुंगा।

दरअसल, आज मीडिया से चर्चा करते हुए मिश्रा ने कहा कि प्रदेश में होमगार्ड्स के जवानों की सेवा शर्तों से जुड़े मुद्दे पर आज रविवार (Sunday) को गृह विभाग के वरिष्ठ अफसरों के साथ चर्चा करूंगा। इस विषय के समाधान में गृह विभाग (Home Department) के अलावा वित्त विभाग (Finance department) की भी अहम भूमिका है। सरकार होमगार्ड जवानों की मांगों के प्रति पूरी तरह गंभीर है।

दरअसल, बीते दिनों दतिया में होमगार्ड सैनिकों ने तीन सूत्रीय मांगों को लेकर गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपा था,जिसमें उन्होंने मप्र होमगार्ड सैनिक नियम 2016 (MP Home Guard Soldier Rules 2016) निरस्त करने की मांग की थी और कहा था कि सरकार 1 फरवरी से एक नया आदेश लागू करने जा रही है।इसमें होम गार्ड्स को सिर्फ 10 महीने काम मिलेगा और 2 महीने घर बैठना होगा।

जल्द कैबिनेट मे रखा जाएगा कानून

लव जिहाद (Love jihad) कानून को लेकर नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) कहा कि धर्मांतरण के लिए होने वाली शादियों पर अंकुश लगाने के लिए धर्म स्वातंत्र्य विधेयक (Freedom of Religion Bill) जल्द ही मंजूरी के लिए कैबिनेट (Shivraj Cabinet) में रखा जाएगा। इसे और सख्त बनाने के लिए ‘लव जिहाद’ के आरोपी की संपत्ति जब्त करने और गुजारा भत्ते का प्रावधान भी जोड़ने पर विचार किया जा रहा है।

कमलनाथ पर हमला
स्वास्थ्यकर्मियों (Health workers) को लेकर कमलनाथ (Kamal Nath) द्वारा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) को पत्र लिखे जाने पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ जी आजकल सिर्फ ट्वीट करने और चिट्ठियां लिखने तक ही सीमित हैं। वे प्रदेश में विपक्ष के नेता हैं इसलिए उन्हें जनता से सीधा संवाद भी करना चाहिए। उन्हें कभी एकाद पत्र ऐसा भी लिखना चाहिए जिसमें वे कांग्रेस सरकार की कुछ उपलब्धियां भी तो बताएं।

डॉ. भीमराव आंबेडकर जी की पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि

वही नरोत्तम ने भारत के संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर (BR Ambedkar Death Anniversary) की 64वीं पुण्यतिथि पर कहा कि मैं राजनीति में सुख भोगने नहीं बल्कि नीचे दबे हुए अपने भाइयों को अधिकार दिलाने आया हूँ।संविधान निर्माता भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर जी की पुण्यतिथि पर उन्हें सादर नमन और विनम्र श्रद्धांजलि।वही कहा कि आज बहुसंख्यक हिंदू समाज के धैर्य, शौर्य और सहिष्णुता का दिन है। इसी के चलते अयोध्या में श्री रामजन्म भूमि पर हम सबके मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम (Maryada Purushottam Shriram) के भव्य मंदिर का शिलान्यास संभव हो पाया है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here