भारत में इस समय में आ सकती है कोरोना की तीसरी लहर? जारी हुई चेतावनी

Corona Warning: हालांकि लक्षण हल्के होंगे, भारत में दूसरी लहर की तुलना में दैनिक मामलों की संख्या अधिक होने कि संभावना है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट देश भर में कोरोना (corona) के बढ़ते मामले ने केंन्द्र सरकार (Modi Government) की चिंता बढ़ा दी है। अधिक मामलों का पता चलने के साथ ओमाइक्रोन (Omicron) मामले के प्रसार को लेकर भय हर दिन बढ़ रहा है। वर्तमान स्थिति में, हर कोई सोच रहा है कि क्या और कब भारत में कोरोना महामारी की तीसरी लहर (corona third wave) आने की संभावना है।

इस सवाल का जवाब देते हुए नेशनल कोरोना सुपरमॉडल कमेटी ने शनिवार को चेतावनी जारी की है। कोरोना पैनल ने भविष्यवाणी की है कि महामारी की तीसरी लहर अगले साल फरवरी के आसपास भारत में आने की संभावना है।विद्यासागर ने कहा कि भारत में फरवरी 2022 में महामारी की तीसरी लहर आने की संभावना है। जिसका नेतृत्व ओमाइक्रोन के मामले से किया जाएगा, लेकिन दूसरी लहर के घातक होने की संभावना कम है। विद्यासागर राष्ट्रीय कोरोना सुपरमॉडल समिति के प्रमुख हैं।

कोरोना विशेषज्ञ ने कहा कि महामारी की तीसरी लहर देश में आएगी और देश में बड़े पैमाने पर मौजूद प्रतिरक्षा के कारण दूसरी लहर की तुलना में हल्की होगी। हालांकि लक्षण हल्के होंगे, भारत में दूसरी लहर की तुलना में दैनिक मामलों की संख्या अधिक होने कि संभावना है। विद्यासागर ने कहा कि सीरो-सर्वे के अनुसार, आबादी का बेहद कम हिस्‍सा है जो डेल्‍टा वेरिएंट के संपर्क में नहीं आया है। ऐसे में तीसरी लहर दूसरी लहर जितनी खतरनाक नहीं होगी।

Read More : छुट्टियां मनाएं, लेकिन सावधानी जारी रहे- प्रवीण कक्कड़

एक समाचार एजेंसी से बात करते हुए विद्यासागर ने आगे बताया कि महामारी की तीसरी लहर के दौरान केसों की संख्या दो बातों पर निर्भर करेगी। सबसे पहले, ओमिक्रॉन डेल्टा के पूर्व संपर्क से प्राप्त प्राकृतिक प्रतिरक्षा प्रणाली और इंसानों की वास्तविक प्रतिरक्षा प्रणाली का अंतर।

पैनल प्रमुख ने आगे कहा कि भारत में महामारी की तीसरी लहर के दौरान हर दिन दो लाख नए मामलों की उम्मीद की जा सकती है, लेकिन ये अनुमान हैं, भविष्यवाणियां नहीं। खतरे को देखते हुए हम भविष्यवाणी करना शुरू कर सकते हैं।भारत में कोरोना के मामलों की कुल संख्या सात से आठ हजार के बीच है, जबकि देश में ओमाइक्रोन मामलों की कुल संख्या अब तक 130 से अधिक है। शुक्रवार को आठ नए मामले सामने आने के साथ ही महाराष्ट्र में ओमाइक्रोन के सबसे ज्यादा मामले हैं।