सत्ता संगठन की फटकार के बाद बैकफूट पर खाद्य मंत्री, मांगी माफी, CM ने दी सख्त चेतावनी

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी वर्गों की मां बहन और बेटियों का कल्याण और सम्मान बीजेपी सरकार की पहली प्राथमिकता हमने बिसाहूलाल सिंह से बात की है उन्होंने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। हमेशा अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाले मध्य प्रदेश के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह (Madhya Pradesh Food Minister Bisahulal Singh) सत्ता संगठन की फटकार के बाद बैकफूट पर आ गए है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा द्वारा सख्त हिदायत देने के बाद खाद्य मंत्री ने एक बार फिर वीडियो जारी कर प्रदेश की सभी महिलाओं से माफी मांगी है।

यह भी पढ़े.. 4 लाख कर्मचारियों-पेंशनर्स को नए वेतनमान का तोहफा, पेंशन-ग्रेच्युटी का भी लाभ, सैलरी में आएगा उछाल

दरअसल 24 नवंबर को अपने विधानसभा क्षेत्र के फुनगा गांव में बिसाहूलाल सिंह ने एक विवादास्पद बयान दिया था जिसमें उन्होंने कहा था कि उनके घर की औरतों को घर से बाहर खींच कर लाना चाहिए और उन्हें कार्य में लगाना चाहिए। सिंह के इस बयान को लेकर प्रदेशभर में करणी सेना ने प्रदर्शन किया था। इसके साथ ही कांग्रेस ने भी उनके इस बयान की आलोचना की थी। वही बीजेपी कार्यालय में भी शनिवार को करणी सेना ने प्रदर्शन करते हुए सिंह की गाड़ी को घेर लिया था व उनको बमुश्किल बचाकर बाहर लाया जा सका था।

इस पूरे बवाल और लगातार इस मामले में अलग अलग जिलों में हो रहे विरोध प्रदर्शन के बाद आज रविवार सुबह को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने उन्हें मुख्यमंत्री निवास तलब (CM House) किया था, जिसके बाद उन्हें भविष्य में इस तरह से बयान देने से बचने और दोबारा गलती को ना दोहराने की सख्त हिदायत दी है, ताकी आगामी चुनाव से पहले समाज के किसी भी वर्ग या हिस्से में बीजेपी और पार्टी के खिलाफ कोई गलत संदेश ना जाएं, जिसका हर्जाना चुनाव में चुकाना पड़े।

यह भी पढ़े.. MP News: 4 कर्मचारी निलंबित, 115 अधिकारियों पर जुर्माना, 14 ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट नोटिस

हालांकि प्रदेशभर में सियासत गर्माने और आगामी चुनाव को देखते हुए पार्टी के कहने पर खाद्य मंत्री बिसाहू ने दो दिन पहले ही अपने बयान को लेकर खेद जताया था और क्षमा भी मांगी थी। उन्होंने यह भी कहा था कि उनका उद्देश्य किसी भी वर्ग विशेष को आहत करना नहीं था, लेकिन करनी सेना और कांग्रेस लगातार इस्तीफे की मांग पर अड़ी हुई है, ऐसे में आज सीएम ने उन्हें बुलाकर समझाइश दी है।

सीएम शिवराज ने दी सख्त चेतावनी

वही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि सभी वर्गों की मां बहन और बेटियों का कल्याण और सम्मान बीजेपी सरकार की पहली प्राथमिकता हमने बिसाहूलाल सिंह से बात की है उन्होंने सार्वजनिक रूप से माफी मांगी है और यह निर्देश दिए हैं कि भावनाएं चाहे जो कुछ भी हो संदेश गलत नहीं जाना चाहिए।वही उन्होंने कार्यकर्ताओं और मंत्रियों को भी कड़ी चेतावनी दी कि संभल कर बोलें। सभी को अनुशासन का पालन करना चाहिए जो भी गलत बयानबाजी करेगा उसको बख्शा नहीं जाएगामैंने सख्त चेतावनी दी है और कहां है कि एक-एक शब्द तोल कर बोलना चाहिए ऐसे कोई शब्द ना हो जिससे गलत संदेश जाए।