MP News : अगर ऐसा किया तो अधिकारी-कर्मचारी होंगे दंडित, CM ने कईयों को थमाया नोटिस

ख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में किसी भी नागरिक द्वारा की गई शिकायत को सुलझाए बिना उसे बंद किए जाने के मामलों में सख्त कार्रवाई की जाएगी।

मप्र सरकार

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पिछली कांग्रेस सरकार (Congress) में बंद किए गए समाधान ऑनलाइन पोर्टल (MP Samadhan Online) को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) दो साल बाद फिर से शुरु कर दिया है। वही अधिकारी-कर्मचारियों को साफ निर्देश दिए है कि अगर बिना समाधान शिकायत बंद की तो दंडित किया जाएगा।

इसका ट्रेलर मंगलवार को देखने को भी मिला जब जबलपुर (Jabalpur) की रागिनी कोरी के वाहन चोरी की सीएम हेल्पलाइन (CM Helpline) में दर्ज शिकायत की फाइल को बिना समाधान बंद करने पर डीएसपी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया।

दरअसल, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने समाधान ऑनलाइन के अंतर्गत प्रदेश के नागरिकों की लंबित समस्याओं का वीडियो कॉन्फ्रेंस द्वारा समाधान करवाया। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन में किसी भी नागरिक द्वारा की गई शिकायत को सुलझाए बिना उसे बंद किए जाने के मामलों में सख्त कार्रवाई की जाएगी। जब तक दर्ज शिकायत का समाधान शिकायतकर्ता को ना मिले शिकायत बंद नहीं की जाना चाहिए। ऐसा करने वाले अधिकारी कर्मचारी (Officer Employee) दंडित किए जाएंगे। इस अवसर पर मुख्य सचिव  इकबाल सिंह बैंस (Chief Secretary Iqbal Singh Bains) भी उपस्थित थे।

लापरवाही पर मिला नोटिस

मुख्यमंत्री चौहान ने गुना (Guna) के लाल राम  को पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग (Panchayat and Rural Development Department) और छिंदवाड़ा (Chhindwara) के प्रकाश परिहार को बेटी के विवाह के लिए सामाजिक न्याय विभाग(Social Justice Department) की ओर से दी जाने वाली सहायता राशि दिलवाई। छिंदवाड़ा जिले के ही अमोल धोखे को भी पंचायत विभाग और श्रम विभाग (Panchayat Department and Labor Department) से सहायता प्राप्त हुई। जबलपुर की सुश्री वर्षा चौधरी को भी दो लाख का भुगतान प्राप्त हुआ ।अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की ओर से इस कार्रवाई में विलंब के लिए जिला अधिकारी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। मुख्यमंत्री  चौहान ने जबलपुर की सुश्री रागिनी कोरी का दुपहिया वाहन चोरी होने पर सीएम हेल्पलाइन में दर्ज प्रकरण बिना समाधान के बंद करने के लिए दोषी डीएसपी (DSP) को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिए।

एसडीएम के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश

मुख्यमंत्री  चौहान ने सीहोर (Sehore) जिले की ती निर्मला को बेटी की मृत्यु हो जाने पर संबल योजना के अंतर्गत राहत राशि प्रदान करने को कहा। निर्मला को यह राशि प्राप्त हो गई है ।सीहोर जिले की ही सरस्वती को भी सहायता की राशि भुगतान किया गया। इस प्रकरण में कमिश्नर भोपाल (Bhopal) ने बताया कि ऐसे समस्त लंबित प्रकरणों की समीक्षा कर ली गई है। मुख्यमंत्री चौहान ने छतरपुर (Chhatarpur) के अवधेश यादव को राजस्व विभाग (Revenue Department) द्वारा यादव के परिजन की मृत्यु होने पर दी जाने वाली सहायता राशि का भुगतान करने के निर्देश दिए।उन्होंने कार्य लंबित होने पर अप्रसन्नता व्यक्त कर संबंधित एसडीएम (SDM) के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश दिए।

तहसीलदार को कारण बताओ नोटिस

मुख्यमंत्री चौहान ने कमिश्नर सागर (Sagar) को इस प्रकरण की विस्तार से जांच कर अन्य दोषियों के विरुद्ध भी कार्रवाई के निर्देश भी दिए ।समाधान ऑनलाइन में ग्वालियर (Gwalior) की सुश्री मोनिका का उद्यम लघु स्थापना का ऋण प्रकरण भी आया जिसमें सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम विभाग द्वारा ऋण दिया जाना था। कोविड-19 की परिस्थितियों के कारण इसमें विलंब हुआ, लेकिन आज आवेदिका को राशि प्राप्त हो गई। सागर के श्री डीलन पटेल ने 181 पर कॉल कर शिकायत की थी कि उसे राशन खाद्य सामग्री प्राप्त नहीं हो रही।आवेदक को संदिग्ध हितग्राही सूची में दर्ज कर दिया गया था। मुख्यमंत्री चौहान ने इस प्रकरण में त्रुटि के दोषी अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध कार्रवाई करने को कहा। साथ ही खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग को पात्र उपभोक्ताओं की सभी पात्रता पर्चियों के वितरण के साथ ही हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरित करने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री  चौहान ने अशोक नगर के श्री रामकृष्ण सहरिया को पिता की सर्पदंश से मृत्यु के पश्चात राशि प्रदान करने के मामले में हुए विलंब के लिए दोषी लिपिक को निलंबित करने और संबंधित तहसीलदार को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिए। समाधान ऑनलाइन में प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री  मनीष रस्तोगी (Chief Secretary to Chief Minister Manish Rastogi) भी उपस्थित थे।

पुरस्कृत हुए 8 अधिकारी-कर्मचारी

मुख्यमंत्री  चौहान ने समाधान ऑनलाइन में आज सीएम हेल्पलाइन में नवंबर माह के श्रेष्ठ कार्य के लिए अधिकारियों कर्मचारियों को बधाई दी। चयनित 8 लोगों को अच्छे कार्य के लिए मुख्यमंत्री  चौहान से बधाई मिली। इनमें से एक दीपक श्रीवास्तव को मुख्यमंत्री श्री चौहान ने दो बधाइयां दी। पहली श्रेष्ठ कार्य की और दूसरी उसकी शादी की। दरअसल  चौहान के समक्ष आज जब श्रेष्ठ कार्यों का ब्यौरा रखा गया तो कलेक्टर सागर ने मुख्यमंत्री श्री चौहान को जानकारी दी कि  दीपक श्रीवास्तव का आज विवाह है इसलिए वह यहां उपस्थित नहीं है ।तब मुख्यमंत्री  चौहान ने श्रीवास्तव का मोबाइल नंबर लेकर उसे फोन पर बधाई दी। आज सीएम हेल्पलाइन में विभाग स्तर पर की गई कार्रवाई के लिए उत्कृष्ट जिलों के नाम भी घोषित किए गए। इसके साथ ही विभागों की ग्रेडिंग से भी अवगत करवाया गया। मुख्यमंत्री  चौहान ने उत्कृष्ट कार्य करने वाले सभी अधिकारियों, कर्मचारियों और विभागों को बधाई दी। उन्होंने अन्य विभागों को भी पूरी रुचि और गति के साथ करने के निर्देश दिए।