खरगोन में व्यापारियों ने क्यों ली आतंकवादी बनने की शपथ ? अधिकारियों को भी दी धमकी, जाने पूरी वजह

आज हमारी सालों पुरानी दुकानों को गिराया गया और हमें बेरोजगार (unemployed) कर दिया गया है इसलिए अब हम शपथ (oath) लेते हैं कि अब आतंकवादी और नक्सलवादी (Terrorists and Naxalites) बनेंगे। वहीं अधिकारियों को धमकी देते हुए कहा कि अब हम इनके घर पर हमला करेंगे।

खरगोन,डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में अतिक्रमण के खिलाफ अभियान (Campaign Against Encroachent) लगातार जारी है। हाल ही में प्रदेश के दमोह (Damoh) जिले के गढ़ाकोटा में पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव (PWD Minister Gopal Bhargava) के बंगले के बाहर से अतिक्रमण हटाया गया, जिसके बाद सियासी हलचल तेज हो गई थी। वहीं अब खरगोन में भी अतिक्रमण हटाओ मुहिम के तहत दुकानदारों का आक्रोश देखने को मिला है, जहां पर वह अतिक्रमण हटाओ मुहिम का विरोध करते हुए शपथ (oath) लेते नजर आ रहे हैं जिसमें वह कह रहे हैं कि अब हम बेरोजगार (Unemployed) हो गए हैं तो अब हम आतंकवादी और नक्सलवादी (Terrorists and Naxalites) बनेंगे, जिसके बाद से प्रशासन में खलबली मच गई है।

अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई

दरअसल खरगोन जिले में बीते दिनों से अतिक्रमण (encroachment )हटाओ अभियान के तहत कार्रवाई की जा रही है। इसी कड़ी में जिले से 40 किलोमीटर दूर भीकनगांव में नगर परिषद, राजस्व विभाग और पुलिस प्रशासन द्वारा संयुक्त रूप से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करते हुए शासकीय भवनों के आसपास से अवैध अतिक्रमण (encroachment )हटाया जा रहा है। कार्रवाई के तहत 4200 वर्ग मीटर शासकीय जमीन पर बुलडोजर चलाकर अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई।

आतंकवादी और नक्सलवादी बनने की शपथ

प्रशासन द्वारा की गई इस कार्रवाई में भीकनगांव के समाजसेवी और गौशाला प्रमुख अरविंद जयसवाल ने व्यापारियों के हटाए गए अवैध अतिक्रमण के खिलाफ संयुक्त रूप से व्यापारियों को आतंकवादी और नक्सली (Terrorists and naxalites) बनने की शपथ दिलाई। इस वीडियो में सभी व्यापारी यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि आज हमारी सालों पुरानी दुकानों को गिराया गया और हमें बेरोजगार कर दिया गया है इसलिए अब हम शपथ लेते हैं कि अब आतंकवादी और नक्सलवादी बनेंगे। वहीं अधिकारियों को धमकी देते हुए कहा कि अब हम इनके घर पर हमला करेंगे।

खरगोन में व्यापारियों ने क्यों ली आतंकवादी बनने की शपथ ? अधिकारियों को भी दी धमकी, जाने पूरी वजह

मुक्त हुई सरकारी जमीन

इस अतिक्रमण हटाओ कार्रवाई के लिए बनाई गई टीम में भीकनगांव एसडीएम ओम नारायण सिंह, एसडीओपी प्रवीण उईके, थाना इंचार्ज जगदीश गोयल, सीएमओ मनोज गंगरोड शामिल थे। बताया जा रहा है कि झिरन्या रोड, छोटा चौराहा और जेतगढ़ मार्ग की 32 व्यवसायिक दुकानों को काफी मुश्किल के बाद जमीदोज किया गया। इस कार्रवाई में एक करोड़ 60 लाख रुपए की करीब 4200 वर्ग फीट शासकीय भूमि (Government land) पर बने अतिक्रमण को बुलडोजर की मदद से हटाया गया।

शिकायत आने पर होगी कार्रवाई

वहीं इस पूरी कार्रवाई को लेकर एएसपी ग्रामीण ने बताया कि प्रदेश भर में अतिक्रमण के खिलाफ मुहिम जारी है और इसी कड़ी में भीकनगांव में भी अतिक्रमण के खिलाफ कार्यवाही शुरू की गई, जिसमें शासकीय जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराया गया। जिसके बाद व्यापारियों में गुस्सा देखा गया और एक वीडियो वायरल हुआ है। एसपी कहते हैं कि वायरल हुए वीडियो की पुष्टि करने के बाद और उसका आशय जाने के बाद, साथ ही व्यापारियों द्वारा ली गई शपथ का आशय को ध्यान में रखते हुए अगर कोई शिकायत भीकनगांव प्रशासन से आती है तो उस पर कार्रवाई की जाएगी