MP की राजनीति में दिलचस्पी ले रही उमा भारती, बीजेपी नेताओं में हलचल

uma-bharti-activities-making-party-leaders-uncomfortable-

भोपाल। मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती अब प्रदेश की सियासत में सक्रिया हैं। उनकी इस सक्रियता से बीजेपी हल्कों में खलबली मच गई है। इससे पहले जबतक वह केंद्र में मंत्री रहीं वह इस तरह से प्रदेश में एक्टिव नहीं थीं। इस समय वह लोगों से मिल रही हैं। अलग अलग कार्यक्रमों में शामिल हो रही हैं। 

बीते तीन दिनों से वह भोपाल में भाजपा नेताओं से मुलाकात कर रही हैं। यही नहीं वह बीजेपी के उन नेताओं के साथ खड़ी नज़र आ रही हैं जो इस समय काफी मुश्किलों का सामना कर रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश के वरिष्ठ भाजपा नेताओं में उनकी इस सक्रियता से काफी खलबली मची है। उन्हें इस बात का डर बना हुआ है कि उमा के यहां आने से उनकी राजनीति खतरे में पड़ सकती है। पार्टी में उनकी कद भी घट सकता है। बता दें विधानसभा सत्र के दौरान हुआ घटना क्रम से बीजेपी के आलाकमान काफी खफा हैं। पार्टी से दो विधायकों ने बगावत कर कांग्रेस में जाने का मन बना लिया है। जिससे आलाकामान प्रदेश नेतृत्व से नाराज़ बताया जा रहा है। मीडिया रिपोर्ट में के मुताबिक नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव पर भी संकट बरकरार है। उनके लगातार बयानों के कारण ही पार्टी की किरकिरी हुई है। 

ऐसे समय में अब गोपाल समेत एक अन्य नेता उमा भारती से मुलाकात कर रहे हैं। यही नहीं बताया जा रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से भी इन्होंने दूरी बनाए रखी है। राजनीति के पंडितों का कहना है कि उमा खुलकर सामने नहीं आ रही हैं। वह इन नेताओं के सहारे अपनी सियासत करना चाह रही है। यही नहीं वह पार्टी के कार्यक्रमों में भी लगातार भाग ले रही हैं। उन्होंने हाल ही में प्रदेश के नए राज्यपाल लालजी टंडन से नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव के साथ मुलाकात की। जिसके कई मायने सियासी गलियारों में निकाले जा रहे हैं।