इंदौर के बाद इस जिले में बेकाबू कोरोना, 48 नए मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव

भोपाल।

मध्यप्रदेश के इंदौर की तरह राजधानी भोपाल में भी दिनों दिन हालत बिगड़ते जा रहे है। यहां आए दिन मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है।आज रविवार को फिर राजधानी भोपाल में 48 नए कोरोना पॉजिटिव मिले है।इनकी कांटेक्ट हिस्ट्री निकाली जा रही है और पॉजिटिव व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। यहां कुल मरीजों की संख्या 1300 के पार हो गई है और मृतकों की संख्या 40 के पार हो गई है।वही प्रदेश में मरीजों का आंकड़ा 6 हजार के पार हो गया है और मृतकों की संख्या 275 हो गई है।

दरअसल, राजधानी में शनिवार को 51 नए मरीज मिले थे, जबकि एक और मरीज ने दम तोड़ दिया। शनिवार को पॉजिटिव रिपोर्ट के अनुसार प्रदेश के सबसे बड़े हॉट स्पॉट जहांगीराबाद क्षेत्र में दो नए पॉजिटिव आए हैं। वहीं मंगलवारा को नया अति संवेदनशील जोन बन रहा है, वहां दस नए पॉजिटिव मिले हैं। बागमुगालिया क्षेत्र में चार, करोंद में चार, जाटखेडी में दो नए पॉजिटिव पाए गए हैं। वहीं जहांगीराबाद क्षेत्र के ऐसे लोग जिन्हें होटल सुदर्शन में क्वारंटाइन किया गया था उनमें से तीन पॉजिटिव मिले हैं। वहीं जनता नगर के एक ही परिवार के 4 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।पिछले छह दिन के अंदर राजधानी के शाहजहांनाबाद, टीलाजमालपुरा व गौतम नगर क्षेत्र में 40 नए पॉजिटिव मिले हैं। अकेले जहांगीराबाद क्षेत्र में छह दिन में 50 से ज्यादा पॉजिटिव आए गए हैं।

इससे पहले शुक्रवार को राजधानी में 44 पॉजिटिव मिले थे।इनमें मंगलवारा से 8, बागमुगालिया से 5 और इमामबाड़ा से 4 मामले हैं।वही जहांगीराबाद के बाद अब दूसरे इलाकों में भी कोरोना का खतरा बढ़ रहा है। शुक्रवार सुबह ही में 19 कोरोना के मामले सामने आए थे। शुक्रवार में जो कोरोना पॉजिटिव मिले उनमें से ज्यादातर जाटखेड़ी के हैं। वहीं एक उच्च शिक्षा के अफसर भी इसमें संक्रमित पाए गए हैं। लगातार नए इलाकों तक संक्रमण का फैलना प्रशासन के लिए चिंता का विषय बना हुआ है। बीते 15 दिनों में 474 नए मरीज मिले हैं। जबकि पिछले डेढ़ महीने में 700 मरीज मिले थे। नए इलाकों मिसरोद, जाटखेड़ी, ओल्ड सुभाष नगर, बरखेड़ा पठानी में तेज़ी से सक्रमण फ़ैल रहा है। वहीँ जाटखेड़ी-मिसरोद न्यू हॉट स्पॉट बन गया है। जहाँ दो सप्ताह में 37 लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। दूसरी तरफ पिछले पांच दिनों में जिले के इन इलाकों में ऐसे संक्रमण बढ़ा है। जहाँ 17 मई को 45, 18 मई को 45, 19 मई को 47, 20 मई को 48, 21 मई को 41 मामले सामने आएं हैं।

ग्रीन से ग्रीन जोन में ई-पास की जरूरत नहीं

अब ग्रीन जोन से ग्रीन जोन में जाने के लिए ई-पास की आवश्यकता नहीं होगी। अपने स्वयं के वाहन से ग्रीन जोन से ग्रीन जोन की यात्रा बिना ई-पास के की जा सकती है। रेड जोन से ग्रीन जोन या ग्रीन जोन से रेड जोन में यात्रा करने के लिए ई-पास की आवश्यकता होगी| मुख्य सचिव श्री बैंस ने कहा कि गाइडलाइन के नियमों का पालन किया जाए तथा लोगों को अनावश्यक रूप से आने-जाने से रोका न जाए।