केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन के दौरे के बीच हंगामा, बीजेपी कार्यकर्ता और एम्स कर्मचारी आपस में उलझे

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शनिवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन (Harsh Vardhan) की एम्स (AIIMS) यात्रा के दौरान जमकर हंगामा हुआ। बीजेपी (bjp) कार्यकर्ताओं द्वारा लगाई गई हैल्प डेस्क को हटाने को लेकर शुरू हुए विवाद ने बड़ा रूप ले लिया। इस दौरान विधायक कृष्णा गौर (krishna gaur) भी वहां मौजूद थी।

ये भी देखिये – निकाय चुनाव 2021: ग्वालियर हाईकोर्ट का बड़ा फैसला- आरक्षण प्रक्रिया पर लगाई रोक

दरअसल, कृष्णा गौर, उनके समर्थक और बीजेपी जिलाध्यक्ष सुमित पचौरी केंद्रीय मंत्री का स्वागत करने एम्स पहुंचे थे। जानकारी के मुताबिक वहां उन्होंने एम्स प्रबंधन की बिना अनुमति के फूलो से सजाकर एक हैल्प डेस्क (help desk) लगा दी। इस बीच एम्स कर्मचारी वहां पहुंचे और उन्होने इसकी अनुमति लेने की बात बीजेपी कार्यकर्ताओं को कही। कहा जा रहा है कि एम्स सुरक्षाकर्मी इस डेस्क को हटाने लगे, तभी उनके और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच कहासुनी हो गई। बीजेपी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि एम्स के सुरक्षा अधिकारी ने हैल्प डेस्क पर लगाई गई पीएम नरेंद्र मोदी (pm narendra modi) की फोटो को लात मारकर हटाया। इसी बात पर हंगामा हो गया, मौके पर पहुंचे एम्स प्रबंधन ने बात को संभालने की कोशिश की लेकिन बीजेपी कार्यकर्ता कार्रवाई पर अड़ गए। बात इतनी बढ़ गई कि वहां पुलिस भी पहुंच गई और किसी तरह मामला शांत कराया। इस विवाद के बाद कृष्णा गौर और सुमित पचौरी ने एम्स कर्मचारियों के रवैये को लेकर नाराजगी जताई है। बता दें कि केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन यहां आईसीएमआर की मदद से बनाई गई फंगस लैब और सभागार के लोकार्पण के लिए पहुंचे थे।