दो पार्षदों के वायरल ऑडियो से मचा हड़कंप, चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी को 5 लाख देने का जिक्र

ग्वालियर। विधानसभा चुनावों के परिणाम और कांग्रेस सरकार के गठन के बाद सोशल मीडिया पर एक ऑडियो इस समय वायरल हो रहा है । ऑडियो में कथित भाजपा पार्षद और कांग्रेस पार्षद की बातचीत है जिसमें भाजपा पार्षद कांग्रेस पार्षद से दावा कर रहे हैं कि उन्होंने चुनावों में प्रद्युम्न सिंह तोमर की मदद की और 5 लाख रुपये दिए । जिसके जवाब में कांग्रेस पार्षद कहते हैं कि आप लोगों की मदद से ही वे चुनाव जीत पाए। हालाँकि दोनों ही पार्षदों ने वायरल ऑडियो में उनकी आवाज नहीं होने का दावा किया है । उधर इस ऑडियो के वायरल होने के बाद पूर्व मंत्री जयभान सिंह पवैया के भितरघात के आरोप सही साबित हो रहे हैं । 

ग्वालियर विधानसभा सीट से चुनाव जीतकर विधानसभा पहुंचे सरकार के खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के क्षेत्र के दो पार्षदों की ऑडियो रिकॉर्डिंग चुनाव के एक साल बाद वायरल हो रही है। इसमें भाजपा पार्षद धर्मेन्द्र सिंह उर्फ़ गुड्डू तोमर और कांग्रेस पार्षद विनोद उर्फ़ माठू यादव की आवाज बताई जा रही है। हालाँकि एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ इस ऑडियो की आवाजों की पुष्टि नहीं करता है। फोन पर बातचीत की शुरुआत माठू यादव  करते हैं वे गुड्डू तोमर से पार्षद  चुनावों में मिलने वाले टिकट को लेकर चर्चा करते है और ओमप्रकाश नामदेव , दिनेश सिकरवार और केके कुशवाह जैसे नेताओं के नाम लेते हैं। बातचीत का सिलसिला धीरे धीरे विधानसभा चुनावों में इन नेताओं द्वारा प्रद्युम्न सिंह तोमर को मदद पहुचाने के तरीके तक पहुंच जाता है । दोनों पार्षद जातिगत वोटो की गणित की चर्चा करते हैं। इतने में माठू यादव द्वारा दिनेश सिकरवार द्वारा प्रद्युम्न सिंह तोमर की बहुत मदद की बात सुनते ही पार्षद गुड्डू तोमर भड़कते हुए कहते हैं कि उसने  (दिनेश) ने क्या मदद की । हमने कुछ नहीं  किया क्या ? इस पर माठू कहते हैं कि नहीं नहीं आपने भी मदद की है तभी तो वे (प्रद्युम्न) चुनाव जीत पाए। यहाँ माठू की बात में जोड़ते हुए गुड्डू कहते हैं मैंने इनकी (प्रद्युम्न) की मदद की 5 लाख का पैकेट दिया और काम किये। इस पर हँसते हुए माठू कहते हैं कि आपने हमें कभी पैकेट नहीं दिए । जवाब में गुड्डू कहते हैं तुम कभी मिलते ही नहीं हो। उसके बाद दोनों एक दूसरे से मिलने का वादा करते है और बातचीत ख़त्म हो जाती है। 

ऑडियो को बताया झूठा 

इस विषय में अब पार्षदों से उनका पक्ष जाना गया तो दोनों ने ही ऑडियो में उनके आवाजें होने से इंकार कर दिया। गुड्डू तोमर ने कहा कि किसी तकनीक की मदद से किसी ने मेरी हुबहू आवाज निकाली है उधर माठू भी ऑडियो को झूठा बता रहे हैं । वे कहते हैं कि मैं पुलिस को आवेदन देकर इसकी जांच की मांग करूँगा। 


पवैया ने भी परिणाम के बाद किया था 5 लाख का जिक्र

पार्षदों के बीच बातचीत का वीडियो सही है या गलत ये जांच का विषय है लेकिन इसके वायरल हो जाने से पूर्व मंत्री और ग्वालियर विधानसभा से चुनाव हारने वाले भाजपा नेता जयभान सिंह पवैया द्वारा भितरघात के आरोपों को बल मिल रहा है। गौरतलब है कि चुनाव हारने के बाद पवैया ने कार्यकर्ताओं के साथ बैठकों में कहा था कि हमारे अपनों ने ही चुनाव हराया है उन्होंने तब कहा था कि हमारी पार्टी के एक पार्षद ने कांग्रेस प्रत्याशी का टीका कर 5 लाख रुपये तक दिए । इसके अलावा वो कांग्रेस प्रत्याशी के साथ साथ घूमे । यदि हमारे अपने गद्दारी नहीं करते तो परिणाम ऐसे नहीं होते। बहरहाल सच्चाई कुछ भी हो लेकिन पवैया द्वारा चुनाव परिणाम के बाद कही बात और इस ऑडियो में कही 5 लाख  की बात एक जैसी होने से मामला राजनैतिक गलियारों के बीच चर्चा का विषय बना हुआ है।