मौसम ने बदली करवट, कई हिस्सों में शुरू हुई बारिश, जारी हुआ अलर्ट

भोपाल| मध्य प्रदेश में मौसम ने एक बार फिर करवट बदली है| मौसम विभाग ने आगामी दिनों में गरज चमक के साथ बारिश और ओले गिरने की चेतावनी जारी की है| वही प्रदेश भर में बदल छाए हुए और भोपाल, जबलपुर सहित कई हिस्सों में बारिश शुरू हो गई है| पहाड़ी इलाकों में हुई बर्फ़बारी और बारिश का असर मध्य प्रदेश में देखने को मिल रहा है| 

 मौसम विभाग के अनुसार आगामी दिनों में बारिश होने के अनुमान हैं। मौसम विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक पिछले 24 घंटो के दौरान प्रदेश के होशंगाबाद, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में कही-कही हल्की बारिश दर्ज की गई। पश्चिमी मध्यप्रदेश के भोपाल में बीते बुधवार को अधिकतम तापमान 27.7 न्यूनतम 15.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रायसेन में अधिकतम 27.8 और न्यूनतम 12.0 डिग्री सेल्सियस है। राजगढ़ में 26.5 अधिकतम और 15.3 डिग्री सेल्सियस न्यूनतम तापमान, गुना में अधिकतम 26.6 और न्यूनतम 15.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। प्रदेश के ग्वालियर और बैतूल में सबसे ज्यादा ठंड पड़ी।

शुरू हुई बारिश, इन जिलों में अलर्ट 

गुरूवार को भोपाल, जबलपुर समेत कई इलाकों में दोपहर बार काले बादल छा गए और तेज हवा के साथ बारिश हुई है| कई जगह बिजली और ओले गिरने की भी संभावना है| मौसम विशेषज्ञों के अनुसार संभावित पूर्वानुमान है कि कुछ स्थान जैसे ग्वालियर, चंबल, सागर संभागों के जिलों में गरज चमक के साथ बौछारें पड़ने के आसार हैं। वहीं रीवा, भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर संभागों के जिलों में तथा नीमच, मंदसौर और आगर जिले के क्षेत्रों में कहीं-कहीं हल्की बूंदाबांदी हो सकती है।  ग्वालियर, गुना, शिवपुरी, टीकमगढ़, सागर, दमोह, सतना, उमरिया, जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद, बैतूल और देवास जैसे स्थानों पर अच्छी वर्षा हो सकती है। उत्तरी भागों में तीव्रता भारी हो सकती है। कुछ जगहों पर कहीं -कहीं ओले पड़ने वाली गतिविधियों को भी देखा जा सकता है। इस क्षेत्र में बारिश से दिन के तापमान में तीन से चार डिग्री की कमी आएगी पर रात के तापमानों में बढ़ोत्तरी होगी और 13 दिसंबर तक पश्चिम मध्य प्रदेश का मौसम साफ होने लगेगा। लेकिन राज्य के पूर्वी और पूर्वोत्तर हिस्सों में छिटपुट बारिश जारी रहेगी। 14 दिसंबर तक मौसम पूरी तरह से साफ हो जाएगा और उत्तर से आने वाली ठंडी हवाएं राज्य के न्यूनतम तापमान में दो से चार डिग्री तक की कमी ला सकती हैं।