weather-update-heavy-rain-in-madhya-pradesh-

भोपाल| मध्य प्रदेश में अधिकाँश इलाकों में रुक रूककर बारिश का सिलसिला जारी है| वही दो दिन बाद पूरे प्रदेश में झमाझम बारिश शुरू होने के आसार हैं| प्रदेश के महाकौशल क्षेत्र में लगातार बारिश से कई जिलों में हालात बिगड़ गए हैं| डिंडोरी जिला मुख्यालय समेत आसपास के कई इलाकों में हो रही मूसलाधार बारिश के कारण नदी नाले उफान पर हैं. समनापुर में खरमेर नदी उफान पर है और बाढ़ का पानी पुल से करीब 8 फीट ऊपर से बह रहा है| शुक्रवार को कई जिलों में झमाझम बारिश हुई जिससे नदी-नाले उफान पर आ गए।  नरसिंहपुर जिले में तेज बारिश से नर्मदा सहित अन्य नदियों व नालों का जलस्तर बढ़ गया। गोटेगांव-बगासपुर मार्ग, धमना-सांकल मार्ग सुबह के समय बंद रहे। गोटेगांव में नाले-नालियों का पानी सड़क और घरों में भर गया।

डिंडोरी के समनापुर में खरमेर नदी उफान पर है और बाढ़ का पानी पुल से करीब 8 फीट ऊपर से बह रहा है| वहीं किसलपुरी गांव के पास पुल के ऊपर से बाढ़ का पानी बहने के कारण सैकड़ों गांवों का जिला मुख्यालय से संपर्क टूट गया है| वहीं डिंडोरी से मंडला मार्ग में लंबा जाम लगा हुआ है| शनिवार से जिले में लगातार हो रही झमाझम बारिश के कारण नर्मदा समेत अन्य नदी-नाले उफान पर हैं, वहीं बारिश के कारण जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है| मंडला में भी जोरदार बारिश से कई मार्ग बंद हो गए। बालाघाट में हालोन और काश्मीरी नदी उफान पर रहीं जिससे आवागमन बंद रहा। दमोह और कटनी में लगभग एक घंटे बारिश हुई, जबकि अन्य जिलों में रिमझिम बारिश ही हुई। बारिश से मंडला-डिंडौरी मार्ग में बकछेरा नाले में उफान से मार्ग बंद रहा। मंडला-घुघरी मार्ग में गुरबनी नाला आने से सुबह करीब 3 घंटे मार्ग बंद रहा। बिछिया से मवई मार्ग के बीच फेन नदी उफान पर रही जिससे सैदा गांव में पुल डूब गया। पदमी-रामनगर के बीच पुलिया से निकलते समय एक ट्रैक्टर बह गया जबकि ट्राली पुलिया में ही फंसी रही। ट्रैक्टर चालक किसी तरह बच गया।

मौसम विभाग के मुताबिक 4 से 7 अगस्त के बीच तेज बारिश की संभावना है। क्योंकि महाराष्ट्र के रास्ते बादलों की खेप प्रदेश तक पहंुची है। हवा में नमी का प्रतिशत बढ़ जाने से तापमान भी नियंत्रित हो गया है। वर्तमान में मप्र से लगे उत्तरप्रदेश के दक्षिणी भाग पर एक ऊपरी हवा का चक्रवात बना हुआ है। मानसून ट्रफ (द्रोणिका लाइन) राजस्थान से मप्र के नौगांव, सीधी होते हुए बंगाल की खाड़ी तक जा रही है। इसके अतिरिक्त एक अन्य ट्रफ दक्षिणी गुजरात से मप्र के दक्षिणी भाग से होकर बंगाल की खाड़ी तक जा रहा है। इन तीन सिस्टम के सक्रिय होने के कारण वातावरण में लगातार नमी आने का सिलसिला जारी है। इससे राजधानी सहित प्रदेश के अधिकांश स्थानों पर रुक-रुक कर बरसात हो रही है।  शनिवार को सुबह 8:30 से शाम 5:30 बजे तक दमोह में 53, होशंगाबाद में 37, गुना में 36, मलाजखंड में 29, मंडला में 20, खजुराहो में 11.6, जबलपुर में 11.4, इंदौर में 9.2, पचमढ़ी में 9, भोपाल में 2.9 मिमी. पानी गिरा। मौसम विज्ञानियों के मुताबिक 6 अगस्त से पूरे प्रदेश में वर्षा की गतिविधियों में तेजी आएगी।