CABINET MEETING

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। आज मंगलवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan) की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) में कृषि उपकरणों की खरीदी में टैक्स घटाने के फैसले के बाद एक तरफ जहां मप्र (MP) के किसानों (Farmers) मे खुशी की लहर है वही कृषि मंत्री कमल पटेल (Kamal Patel) ने भी कृषि उपकरण हार्वेस्टर पर लगने वाले पंजीयन शुल्क को 10 प्रतिशत से घटाकर एक प्रतिशत करने पर प्रदेश के किसानों की ओर से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का आभार व्यक्त किया है।

यह भी पढ़े.. Indore News: MP में दोबारा लॉकडाउन लगाने पर क्या बोले शिवराज सिंह चौहान

कृषि मंत्री कमल पटेल ने कहा कि किसान हितैषी मुख्यमंत्री  चौहान प्रदेश के किसानों के लिये सगे भाई से भी बढ़कर है। उनकी योजनाएँ किसानों के आर्थिक सशक्तिकरण के साथ ही सामाजिक कल्याण के लिये होती है। प्रदेश में किसानों के लिये खरीफ और रबी के अल्पावधि ऋण को भी शून्य प्रतिशत पर प्रदान कराने का निर्णय अभिनंदनीय है। इससे निश्चित ही किसानों को विभिन्न प्रकार की फसलों के उत्पादन के लिये प्रोत्साहन मिलेगा साथ ही उनकी आय में भी वृद्धि होगी। पटेल ने बताया कि किसानों को शून्य प्रतिशत पर ऋण उपलब्ध कराने के लिये सरकार ने एक हजार करोड़ रूपये का प्रावधान किया है।

यह भी पढ़े.. मप्र निकाय चुनाव 2021: चुनाव आयोग का बड़ा बयान- मार्च में ही होगा तारीखों का ऐलान

बता दे कि शिवराज सरकार के फैसले के बाद अब कृषि उपकरणों की खरीद पर सिर्फ 1% टैक्स लगेगा, जो कि अभीतक 10 प्रतिशत तक लगता था। इससे किसानों को अधिकतम ढाई लाख रुपए तक का फायदा होगा। साथ ही कृषि साख सहकारी संस्थाओं के माध्यम से किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर ही अल्पावधि फसल ऋण मिलेगा। इसके लिए 1000 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। वही ट्रैक्टर और हार्वेस्टर पर लगने वाले मोटर वाहन टैक्स (1%) लगने की अवधि 2 साल के लिए बढ़ाई जा रही हैl