भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| बीजेपी (BJP) के इन तमाम आरोपों के बीच कि मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) की कमलनाथ सरकार (Kamalnath government) ने किसानों का कर्जा माफ नहीं किया, बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने मीडिया के सामने एक पेनड्राइव (Pen drive) लहराते हुए यह सनसनीखेज दावा किया कि इस पेन ड्राइव में 26 लाख उन किसानों के नाम, पते और अकाउंट नंबर सहित वह सारी राशि दर्ज है जो कर्ज के रूप में माफ की गई है ।

दरअसल बीजेपी लगातार यह आरोप लगाती रही है कि कमलनाथ एक किसान का भी दो लाख रू का कर्जा माफ नहीं कर पाए और यदि ऐसा है तो वे उस किसान को सामने लाकर सामने खड़ा करें। इन सबके बीच कमलनाथ का यह दावा कितना सही है यह तो पेन ड्राइव के डाटा का विश्लेषण करने से ही पता चलेगा। लेकिन इसके साथ ही कांग्रेस ज्योतिरादित्य सिंधिया के द्वारा बीजेपी ज्वाइन करने के सात दिन पहले करैरा में कर्ज माफी की गई घोषणाओं की फोटो भी मीडिया के सामने ला रही हैं।

कमलनाथ ने यह भी कहा कि आने वाले उप चुनाव मध्यप्रदेश के भविष्य का निर्धारण करेंगे और जो लोग यह आरोप लगा रहे हैं कि कमलनाथ उन्हें मिलने का समय नहीं दे रहे थे जनता उनसे यह पूछेगी कि आखिर कितने पैसे लेकर उन्होंने बीजेपी ज्वाइन की। कमलनाथ ने बताया कि पिछले चार माह से कांग्रेस के संगठन को मजबूत करने में लगे हैं क्योंकि मुकाबला बीजेपी के संगठन से है। सिंधिया के द्वारा कमलनाथ सरकार के 15 माह के कार्यकाल को भ्रष्टाचार का कार्यकाल बताने पर कमलनाथ ने कहा कि यह तो जनता से जाकर पूछो कि ग्वालियर में सिंधिया ने कितना भ्रष्टाचार किया है।