कलेक्टर के खिलाफ किसने की साजिश

Who-planed-Conspiracy-against-the-gwalior-collector

भोपाल| ग्वालियर के कलेक्टर अनुराग चौधरी के खिलाफ एक स्थानीय समाचार पत्र में छपा एक समाचार चर्चा का विषय बन गया है। इस समाचार पत्र मे कलेक्टर को अधार्मिक प्रस्तुत किया गया है। समाचार पत्र में  लिखा है कि कलेक्टर अनुराग चौधरी  ने सभी सरकारी कार्यालयों के लिए एक फरमान जारी किया है कि वे अपने कार्यालय के भीतर किसी भी भगवान की तस्वीर न लगाएं। ऐसा करने वाले लोगों पर कार्रवाई होगी यह भी समाचार पत्र मे छपा है। 

हैरत की बात यह है कि कलेक्टर अनुराग चौधरी ने इस बारे में कभी कोई आदेश जारी नहीं किया। इससे भी बड़ी आश्चर्य की बात यह है कि समाचार पत्र में ही छोटे से कॉलम में कलेक्टर अनुराग चौधरी का पक्ष भी छापा गया है जिसमें इस तरह की किसी भी बात से कलेक्टर ने साफ इंकार किया है। समाचार पत्र में न तो फरमान की कोई कॉपी छापी है और नहीं ना ही किसी आधिकारिक व्यक्ति का बयान। प्रथम दृष्टया देखने से ही यह समाचार पूरी तरह से असत्य और षड्यंत्र पूर्वक लिखा गया दिख रहा है। इस समाचार से व्यतीत कलेक्टर ने भी फेसबुक पर अपनी पीड़ा जाहिर की है। कलेक्टर अनुराग चौधरी ने लिखा है मैं पूर्णता धार्मिक व्यक्ति हूं और जो मैंने कहा नहीं ,जो मैंने भेजा नहीं, जो मैंने लिखा नहीं उसे मेरे नाम से छापना कहां तक उचित है। मध्य प्रदेश के प्रशासनिक गलियारों में इमानदार और निर्भीक छवि के लिए  जाने जाने वाले आईएस अधिकारी अनुराग चौधरी के खिलाफ षड्यंत्र रचा यह जांच का विषय है|

कलेक्टर के खिलाफ किसने की साजिश